Naidunia
    Tuesday, November 21, 2017
    PreviousNext

    2047 तक भारत होगा उच्च मध्यम आय वाली अर्थव्यवस्था : विश्व बैंक

    Published: Sat, 04 Nov 2017 09:33 PM (IST) | Updated: Thu, 09 Nov 2017 09:32 AM (IST)
    By: Editorial Team
    mobile bbbb 2017119 93158 04 11 2017

    नई दिल्ली। ईज ऑफ डूइंग बिजनेस लिस्ट में भारत की रैकिंग को सुधारने के ठीक बाद वर्ल्ड बैंक ने कहा है कि वस्तु एवं सेवा कर और सरकार की ओर से किए गए अन्य सुधारों के चलते अगले तीस सालों में भारत उच्च मध्यम आय वाली अर्थव्यवस्था होगा।

    बीते तीन दशकों में किए गए सुधारों और प्रति व्यक्ति आय में हुए इजाफे ने इस संभावना को जोर दिया है। ईज ऑफ डूइंग बिजनेस की सूची में भारत के 100वें स्थान को हासिल करने की क्रिकेट के शतक से तुलना करते हुए विश्व बैंक की मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) क्रिस्टलीना जॉर्जीएवा ने कहा कि 15 साल पहले हुए इस सर्वे के संदर्भ में यह एक दुर्लभ उपलब्धि है। उन्होंने कहा, “अगर हम भारत के आकार पर गौर करें तो यह बहुत दुर्लभ है। मेरे विचार से क्रिकेट को प्यार करने वाले देश का शतक मारना एक बहुत बड़ा कीर्तिमान है।”

    पिछले हफ्ते ईज ऑफ डूइंग बिजनेस की नई सूची जारी हुई थी जिसमें भारत 30 अंकों की छलांग लगाते हुए 190 देशों की सूची में 100वें नंबर पर पहुंच गया है। बीते साल भारत 130वें नंबर पर काबिज था। वहीं वित्तमंत्री का कहना है कि सरकार भारत को टॉप 50 में ले जाने को लेकर प्रतिबद्ध है।

    वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय की ओर से आयोजित भारत के व्यापार सुधार पर भी बोलते हुए उन्होंने कहा कि सही ओनरशिप और सुधारों की श्रृंखला सफलता के लिए काफी अहम है। उन्होंने आगे कहा, “हमने सीखा है कि सुधारों के लिए दृढ़ता की जरूरत होती है, हम भारत के लिए जो देख पा रहे हैं वो यह है कि आज की सफलता हो अधिक ऊर्जा और सुधारों के साथ भविष्य में बदलना है।”

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें