Naidunia
    Tuesday, December 12, 2017
    PreviousNext

    वोडाफोन ने किया आइडिया में विलय का ऐलान, कुमार मंगलम बिड़ला होंगे चेयरमैन

    Published: Mon, 20 Mar 2017 09:40 AM (IST) | Updated: Mon, 20 Mar 2017 07:46 PM (IST)
    By: Editorial Team
    idea and vodafone 20 03 2017

    नई दिल्ली। आइडिया सेल्युलर ने सोमवार को वोडाफोन इंडिया और वोडाफोन मोबाइल सर्विसेज के साथ मिलकर देश की सबसे बड़ी दूरसंचार सेवा कंपनी बनाने को मंजूरी दे दी। संयुक्त कंपनी के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला होंगे। आइडिया सेल्युलर ने नियामकीय जानकारी में कहा, "कंपनी ने वोडफोन इंडिया लिमिटेड (वीआईएल) और इसकी पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक यूनिट वोडाफोन मोबाइल सर्विसेज लिमिटेड (वीएमएसएल) के साथ एकीकरण को मंजूरी दे दी है।"प्रस्तावित विलय के लिए कई प्राधिकरणों से मंजूरी लेनी होगी। इनमें बाजार नियामक सेबी, दूरसंचार विभाग और रिजर्व बैंक शामिल हैं। नियामक को भेजी गई जानकारी के मुताबिक कंपनियों के एकीकरण के बाद वीआईएल के इंडस टावर्स में किए गए निवेश को छोड़कर वीआईएल और वीएमएसएल का पूरा कारोबार, इसकी अंतरराष्ट्रीय नेटवर्क संपत्ति और सूचना प्रौद्योगिकी प्लेटफॉर्म सभी नई कंपनी के तहत आ जाएंगी।

    कितनी बड़ी कंपनी आएगी अस्तित्व में

    बिजनेस

    - 5,025 करोड़ का वोडाफोन इंडिया का कारोबार

    - 40,378 करोड़ रुपए का वीएमएसएल का बिजनेस

    - 36,000 करोड़ रुपए का आइडिया सेल्युलर का कारोबार

    - 81,403 करोड़ का होगा संयुक्त कंपनी का बिजनेस

    नेटवर्थ

    कंपनी-------------नेटवर्थ (करोड़ रुपए)

    वीआईएल----------12,855

    वीएमएसएल--------3,737

    आइडिया-----------24,296

    कुल----------------40,888

    बाजार हिस्सेदारी

    कंपनी-------------ग्राहकों की तादाद----बाजार हिस्सेदारी

    वोडाफोन इंडिया-------20.46--------------18.16

    आइडिया सेल्युलर----19.05---------------16.9

    संयुक्त कंपनी--------39.51---------------35.06

    भारती एयरटेल-------26.58---------------23.58

    (ग्राहकों की तादाद करोड़ में, बाजार हिस्सेदारी फीसदी में, आंकड़े दिसंबर 2016 के अंत तक के, स्रोतः ट्राई)

    शेयर होल्डिंग

    आदित्य बिड़ला ग्रुप नई कंपनी में 130 रुपए प्रति शेयर के भाव पर 9.5 फीसदी हिस्सा लेगा। आने वाले समय में भारतीय कंपनी को शेयरधारिता बराबर करने के लिए वोडाफोन से और शेयरों के अधिग्रहण का अधिकार होगा।

    - वोडाफोन इंडिया की 45.1 प्रतिशत

    - आइडिया सेल्युलर की 26 प्रतिशत

    - सार्वजनिक शेयरधारकों की 28.9 फीसदी

    संयुक्त नियंत्रण की व्यवस्था

    विलय के बाद जो नई कंपनी बनेगी, उसकी बाजार हिस्सेदारी भारती एयरटेल से ज्यादा हो जाएगी, जो फिलहाल देश की नंबर एक कंपनी है। आइडिया और वोडाफोन के संयुक्त बयान में कहा गया है कि विलय के बाद बनने वाली एकीकृत कंपनी पर शेयरधारक समझौते के मुताबिक वोडाफोन और आदित्य बिड़ला समूह का संयुक्त नियंत्रण होगा।

    23 सर्किल में नई कंपनी की लीडरशिप होगी। डील की रकम मौजूदा बाजार भाव के हिसाब से है। छोटे शेयरधारकों के हितों का ध्यान रखेंगे। - कुमार मंगलम बिड़ला, अध्यक्ष आदित्य बिड़ला ग्रुप

    सरकार के डिजिटल इंडिया प्लान के मुताबिक विलय किया गया है। हमने भारत में सबसे मजबूत प्रतियोगी कंपनी बनने का लक्ष्य रखा है। - विटोरियो कोलाओ, सीईओ वोडाफोन ग्रुप

    दुनिया की 10 बड़ी टेलीकॉम कंपनियां

    कंपनी---------------बाजार वैल्यू (अरब डॉलर)

    चाइना मोबाइल---------------280

    वेरिजोन कंम्युनिकेशंस-------202.5

    एटीएंड टी---------------------173

    वोडाफोन ग्रुप------------------88

    डॉयचे टेलीकॉम---------------85

    अमेरिका मोविल-------------74.5

    टेलीफोनिका एसए-----------72.3

    निप्पॉन टीटीसी--------------71.5

    सॉफ्टबैंक ग्रुप----------------70.3

    चाइना टेलीकॉम--------------53.9

    इनके मुकाबले वोडाफोन और आडिया के विलय से बनने वाली संयुक्त कंपनी की बाजार वैल्यू 23 अरब डॉलर होगी।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें