Naidunia
    Tuesday, May 23, 2017
    PreviousNext

    पेंशन के लिए कड़ी धूप में ठेले पर लाश की तरह पहुंची 95 साल की बुजुर्ग

    Published: Sat, 20 May 2017 11:32 AM (IST) | Updated: Sat, 20 May 2017 11:42 AM (IST)
    By: Editorial Team
    old women raipur.jpeg 20 05 2017

    रायपुर। यह तस्वीर पहली नजर में तो किसी मुर्दे को ठेले पर ले जाती नजर आती है, लेकिन सच्चाई किसी को भी झकझोर सकती है। राजधानी रायपुर से 48 किमी दूर सिमगा नगर पंचायत के वार्ड-14 इमामबाड़ा निवासी पुसैय्या बाई निषाद (95) को तीन माह से पेंशन नहीं मिली थी।

    पति की मौत के बाद वह बेटी केजा बाई और दामाद सुखराम के साथ रहती है। सुखराम पेंशन के लिए जब भी नगर पंचायत दफ्तर पहुंचता तो बाबू कह देते, डोकरी (बुढ़िया) को लाओ। परेशान सुखराम 19 मई की दोपहर जब पारा करीब 46 डिग्री पर था, पुसैय्या को ठेले पर लिटाया, पास पानी की बोतल रखी और निकल पड़ा नगर पंचायत दफ्तर।

    रास्ते में जो भी सच्चाई जानता, सरकारी व्यवस्था को कोसता। नगर पंचायत पहुंचने पर अधिकारियों को जैसे ही पता चला, वृद्धा को ठेले पर लाया गया है, बवाल न हो, इसके पहले ही आनन-फानन में तीन माह का पेंशन 1050 रुपए का भुगतान कर दिया गया। इस संबंध में नगरपालिका के अधिकारी रमेश तिवारी ने कहा कि आवेदन मिला होता तो वृद्धा को घर जाकर पेंशन का भुगतान कर दिया जाता।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी