Naidunia
    Wednesday, July 26, 2017
    PreviousNext

    रैंकिंग में टॉप टेन से फिसल कर 17वें नंबर पर पहुंचा कृषि विवि

    Published: Mon, 17 Jul 2017 09:11 PM (IST) | Updated: Tue, 18 Jul 2017 08:30 AM (IST)
    By: Editorial Team
    univercity 17 07 2017

    रायपुर। इंदिरा गांधी एग्रीकल्चर यूनिवसिटी रिसर्च और गुणवत्ता में पिछड़ रही है। पिछले सालों में जहां इस यूनिवर्सिटी का नाम देश के टॉपटेन के भीतर आ रहा था, वहीं इस बार जारी भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर) की रैंकिंग में यूनिवर्सिटी देश के 25 बेहतर कृषि अनुसंधान के संस्थान, यूनिवर्सिटीज और इंस्टिट्यूट में इंदिरा गांधी एग्रीकल्चर का स्थान 17वें नंबर पर पहुंच गया है।

    शिक्षाविदों का कहना है कि यूनिवर्सिटी की रैंकिंग उसके रिसर्च पर निर्भर करता है। इसके अलावा स्टूडेंट्स की संख्या, उनका जेआरएफ, एसआरएफ, आईसीएआर की रिक्रूटमेंट बोर्ड में चयन आदि के मापदंडों पर यह रैंक जारी होता है। टॉप वन में देश में आईसीएआर नेशनल डेयरी रिसर्च इंस्टिट्यूट करनाल शामिल है।

    आईसीएआर को रैंकिंग का जिम्मा

    देशभर में यूनिवर्सिटीज को रैंकिंग प्रदान करने का काम यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन यानी यूजीसी को है, लेकिन एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटीज के लिए आईसीएसआर को जिम्मेदारी दी गई है। आईसीएआर कृषि संबंधित संस्थानों के कार्यों पर नजर रखता है और अब यही संस्थान विभिन्न् मानकों पर देश भर में स्थापित एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटीज को को एनआईआरएफ की रैंकिंग प्रक्रिया में लाता है।

    इन मापदंडों पर हुई जांच

    आईसीएआर रैंकिंग प्रक्रिया में उन संस्थानों को स्थान देता है, जहां छात्र संख्या का आंकड़ा एक हजार से अधिक है। रायपुर के एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटीज के अंतर्गत स्नातक स्तर पर ही आठ हजार से अधिक विद्यार्थी हैं, लेकिन यहां से राष्ट्रीय प्रतियोगी परीक्षाओं में स्थान पाने वाले विद्यार्थियों की संख्या, प्रतियोगिताओं में उच्च स्थान पाने वाले छात्रों की संख्या बेहद कम है। खासकर रिसर्च के मामले में विवि की गुणवत्ता बेहद कमजोर है।

    कुछ पुराने कॉलेजों के कारण स्थिति खराब

    छात्रों की संख्या बेहतर है। रिसर्च पेपर भी आ रहे हैं, लेकिन यहां तो सारे मापदंडों को देखने के बाद रैंकिंग होती है। इसलिए कुछ खराब कॉलेजों की वजह से रैंकिंग कम हो गई है। - डॉ . ओपी कश्यप, डीन, एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी रायपुर

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी