Naidunia
    Sunday, November 19, 2017
    PreviousNext

    कम बारिश से सूखने लगी फसलें, किसान चिंतित

    Published: Wed, 13 Sep 2017 11:42 PM (IST) | Updated: Wed, 13 Sep 2017 11:42 PM (IST)
    By: Editorial Team
    13sepp25 13 09 2017

    0 शुरूआती बेहतर बारिश से उत्साहित थे किसान

    0 बिहारपुर क्षेत्र में सिंचाई सुविधाओं का भी है अभाव

    अंबिकापुर, बिहारपुर। नईदुनिया न्यूज

    सूरजपुर जिले के ओड़गी विकासखंड के चांदनी-बिहारपुर क्षेत्र के किसान अल्प वर्षा से चिंतित हैं। कम बारिश होने के कारण फसलें सुख रही हैं। राज्य सरकार द्वारा सूखाग्रस्त तहसीलों में ओड़गी का नाम शामिल नहीं किए जाने से किसानों की चिंता और बढ़ गई है। किसानों का दावा है कि इस साल उन्हें सूखे व अकाल का सामना करना पड़ेगा। इससे उनके समक्ष आजीविका का भी संकट खड़ा हो जाएगा।

    सूरजपुर जिले के चांदनी-बिहारपुर क्षेत्र में सिंचाई सुविधाओं की कमी है। क्षेत्र में बिजली की लचर व्यवस्था के कारण उपलब्ध सिंचाई संसाधनों का भी किसान सही तरीके से उपयोग नहीं कर पाते। मानसूनी बारिश पर ही चांदनी-बिहारपुर क्षेत्र की खरीफ सीजन की खेती टीकी हुई है। इस वर्ष शुरूआती दिनों में चांदनी-बिहारपुर क्षेत्र में अच्छी बारिश हुई। मानसून के सही समय पर दस्तक दे देने के कारण उत्साहित किसानों ने खेतों में पसीना बहाया। जब फसलों को पानी की जरूरत पड़ी, तब से इस क्षेत्र में बारिश ही नहीं हो रही है। जिस कारण किसानों के चेहरे मुरझाने लगे हैं। बिहारपुर क्षेत्र के महुली, कोल्हुआ, कछवारी, रामगढ़, उमझर, रसौकी, खोहिर, बैजनपाठ, लुल्ह, मुंडा, तेलईपाट, जुड़वनिया, मोहरसोप, नवडीहा, बसनारा, कैलाशनगर, कछिया, खैरा, पासल, करौटी, चोंगा, नवगई, बिहारपुर, ठाड़पाथर, नवाटोला, सपहा, कुबेरपुर, अवंतिकापुर, उमापुर, बेगारीडांड़, कांतिपुर में किसानों द्वारा धान, मक्का, उड़द, अरहर, बाजरा आदि फसल लगाई गई है, लेकिन पिछले कई दिनों से बारिश नहीं होने के कारण ये सारी फसलें सूखने लगी हैं। बिहारपुर क्षेत्र में सूखे व अकाल की काली छाया से बेहाल किसान इस बात को लेकर भी चिंतित हैं कि उनके ओड़गी तहसील में भी पर्याप्त बारिश नहीं हुई, इसके बावजूद ओड़गी को सूखाग्रस्त घोषित नहीं किया गया, जिसकारण उन्हें रोजगार का साधन भी नहीं मिल पाएगा। क्षेत्रीय किसानों ने जिला प्रशासन से फसलों का आंकलन कराने की मांग की है,ताकि स्थिति स्पष्ट हो और उन्हें भी कुछ राहत मिल सके।

    और जानें :  # Drying crop
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें