Naidunia
    Thursday, December 14, 2017
    PreviousNext

    ब्याज के झांसे में फंसे ग्रामीणों ने गंवाया 18.23 लाख

    Published: Thu, 12 Oct 2017 11:59 PM (IST) | Updated: Thu, 12 Oct 2017 11:59 PM (IST)
    By: Editorial Team

    0 प्रेमनगर थाना क्षेत्र के महेशपुर की घटना

    0 51 ग्रामीणों से जालसाज ने जमा कराई रकम

    0 पुलिस ने दर्ज किया धोखाधड़ी का मामला

    अंबिकापुर । नईदुनिया प्रतिनिधि

    नकदी जमा करने पर पांच प्रतिशत मासिक ब्याज देने का झांसा दे 51 ग्रामीणों से 18 लाख रुपए से अधिक की ठगी करने के मामले में प्रेमनगर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ अपराध पंजीबद्घ किया है। ठगी के शिकार हुए ग्रामीणों ने मूलधन व ब्याज समेत सवा करोड़ रुपए की ठगी किए जाने का आरोप लगाया है। प्रेमनगर पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है।

    जानकारी के मुताबिक सूरजपुर जिले के प्रेमनगर थानांतर्गत ग्राम महेशपुर निवासी रामदास पनिका पिता धरमदास पनिका 50 वर्ष ने ग्रामीणों को झांसा दिया कि यदि वे उनके पास नकदी रकम जमा करेंगे तो मूलधन पर प्रतिमाह वह पांच प्रतिशत का ब्याज देगा। आरोपी के झांसे में लोग आ गए। शुरू में गिने-चुने लोगों ने ही उसके पास नकद राशि जमा की। इसके एवज में वह नियमित रूप से ब्याज भी देता रहा। इससे दूसरे ग्रामीण भी झांसे में आ गए। वर्ष 2004 से आरोपी ने यह ब्याज का धंधा शुरू किया था। कुल 51 लोगों से 18 लाख 23 हजार 760 रुपए उसने जमा किए। शुरूआती कुछ वर्षों तक वह ब्याज भी देता रहा। बाद में मूलधन तो दूर ब्याज की रकम देना भी बंद कर दिया। गांव वालों को ठगे जाने का एहसास हुआ तो उन्होंने लिखित शिकायत एसडीओपी से की। एसडीओपी ने प्रकरण की बारीकी से जांच की तो आरोपी के विरुद्घ लगाया गया आरोप प्रमाणित पाया गया। एसडीओपी के जांच प्रतिवेदन के आधार पर एसपी सूरजपुर आरपी साय ने प्रेमनगर थाने में आपराधिक प्रकरण दर्ज कराने के निर्देश दिए। विवेचना अधिकारी सहायक उपनिरीक्षक रंजीत खेस ने बताया कि मामले में प्रार्थी रामप्रसाद राजवाड़े 24 वर्ष निवासी महेशपुर की रिपोर्ट पर आरोपी रामदास पनिका के खिलाफ धारा 420 का अपराध पंजीबद्घ किया गया है। शिकायकर्ताओं द्वारा कुल 18 लाख 23 हजार 760 रुपए आरोपी के पास जमा किए गए थे। जब से उसने ब्याज देना बंद किया, उसका पूरा हिसाब बनाकर गांव वालों ने जमा किया है। गांव वालों ने मूलधन के साथ ब्याज की रकम भी जोड़ी है। ग्रामीणों ने दावा किया है कि ब्याज की रकम को मिलाकर आरोपी द्वारा लगभग एक करोड़ 25 लाख रुपए की धोखाधड़ी की गई है। फिलहाल आरोपी पुलिस पकड़ से बाहर है। उसकी सक्रियता से खोजबीन की जा रही है।

    और जानें :  # Joke of interest
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें