Naidunia
    Wednesday, May 24, 2017
    PreviousNext

    दो का विड्राल फार्म और दस रुपए में एंट्री

    Published: Sat, 20 May 2017 12:09 AM (IST) | Updated: Sat, 20 May 2017 12:09 AM (IST)
    By: Editorial Team

    डौंडीलोहारा। डौंडीलोहारा ब्लाक मुख्यालय ने 25 किमी दूर बसे वनांचल ग्राम रेंगाडबरी स्थित छग राज्य ग्रामीण बैंक में पदस्थ शाखा प्रबंधक व कैशियर द्वारा बैंक के सामने स्थित जनरल स्टोर के संचालक के साथ मिलीभगत कर खाताधारकों से विड्राल फार्म व पासबुक में एन्ट्री के नाम पर वसूली की शिकायत खातेदारों ने सुराज अभियान में की है। मामले में बैंक खाताधारकों व रेंगाडबरी के ग्रामीणों के साथ-साथ ग्राम पंचायत भीमपुरी के पंचायत प्रतिनिधियों ने शिकायत कलेक्टर से भी की तथा कड़ी कार्रवाई करने कहा है। ग्रामीणों ने रामदास, भगवती, रूपराम सार्वा, रमेश कुमार, राजकुमार सहित अन्य ने बताया कि रेंगाडबरी स्थित छग राज्य ग्रामीण बैंक की शाखा द्वारा रेंगाडबरी स्थित दो दुकानों में दो रुपए की दर से विधड्राल फार्म बेचा जा रहा है और पास बुक में लेन-देन की एण्ट्री करन के पीछे प्रति खाताधारक से 10 रुपए की मांग की जा रही है। नहीं देने पर बैंक पास बुक में लेनदेन की एन्ट्री करने में आनाकानी करते हैं।

    ग्राम पंचायतों के कार्य प्रभावित

    रेंगाडबरी स्थित इस शाखा में बड़ी मात्रा में वनांचल क्षेत्र मंगचुवा, कैरकट्टा, अरजपुरी, भीमपुरी व दर्जनों ग्रामों के हजारो उपभोक्ताओं का खाता है। इसके अलावा वनांचल क्षेत्र में आने वाली लगभग 15 ग्राम पंचायत इसी शाखा पर आधारित है। जिसे प्रतिदिन पंचायत संबंधी लेन-देन के लिए बैंक आना पड़ता है। परन्तु घंटो लाइन में लगने के बाद और फिर विड्राल फार्म व पास बुक में एन्ट्री ना होने के कारण पंचायतों के विकास कार्यों व अन्य कार्यों में विलम्ब हो रहा है। ग्राम पंचायतों के सरपंचों ने मामले की जांच कर जिम्मेदारों पर कार्रवाई की मांग प्रशासन से की है।

    पिछले 10 दिनों से चल रही अवैध वसूली

    ग्रामीणों ने बताया कि रेंगाडबरी में बैंक द्वारा पिछले एक सप्ताह से विड्राल फार्म उपलब्ध नहीं होने से खाताधारकों को खासी परेशानी हो रही है। बैंक से रुपए निकालने के लिए खाताधारकों को अतिरिक्त पैसा खर्च करना पड़ रहा है। वहीं बैंक प्रबंधन द्वारा पासबुक पर एन्ट्री नहीं करने के कारण खाताधारकों को अपने बचत पैसा का भी पता नहीं चल पा रहा है। खाताधारी चरण सिंह, यशवंत कुमार, पीला लाल, रोहित कुमार, माधवराम, उर्मिला बाई व पनकीन बाई ने बैंक में पदस्थ अधिकारी मनमानी कर रहे हैं। इसमें दिक्कत हो रही है।

    'मैं अभी छुट्टी पर हूं। बैंक में विड्राल फार्म खत्म हो जाने के कारण दुकानों से फोटो कापी कराई गई थी। दुकानदारों को किसी अन्य को विड्राल की कापी नहीं देने को कहा गया था।'

    -आरएस लक़ड़ा, शाखा प्रबंधक छग राज्य ग्रामीण बैंक

    'रेंगाडबरी शाखा के अंतर्गत लगभग 16 हजार उपभोक्ता व 15 ग्राम पंचायतों के खाते हैं। यहां केवल एक शाखा प्रबंधक व एक कैशियर पदस्थ हैं। एकल खिड़की शाखा होने के कारण एक दिन में 150-200 खाताधारकों को ही विड्राल फार्म उपलब्ध कराया जाता है। रोजाना 300-400 उपभोक्ता आते हैं। जिन्हें बिना कार्य वापस लौटना पड़ता है। विड्राल फार्म समाप्त होने के कारण दुकानों से फोटो कापी कराई गई।'

    - संदीप कुमार, कैशियर राज्य ग्रामीण बैंक रेंगाडबरी

    और जानें :  # CG News # Balod News
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी