Naidunia
    Sunday, August 20, 2017
    PreviousNext

    न्याय से वंचित होने की वजह गरीबी न हो

    Published: Sat, 20 May 2017 12:15 AM (IST) | Updated: Sat, 20 May 2017 12:15 AM (IST)
    By: Editorial Team

    बालोद। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा बाल कल्याण समिति तथा वृद्घाश्रम बालोद में विधिक शिविर का आयोजन किया गया।

    इसमें जिला एवं सत्र न्यायाधीश संजय कुमार जायसवाल ने कहा कि गरीबों को कानूनी सहायता उनका अधिकार है। ऐसा नहीं है कि गरीब होने की वजह से उन्हे कानूनी सहायता नहीं मिल पाएगी। न्यायाधीश ने लोगों को विभिन्न कानूनी जानकारी भी दी। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष जिला एवं सत्र न्यायाधीश संजय कुमार जायसवाल व सचिव डॉ.सुमित कुमार सोनी ने विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा संचालित योजनाओं की जानकारी देते हुए निःशुल्क कानूनी सहायता, नागरिकों के मूलभूत अधिकार, मौलिक कर्तव्यों, महिला उत्पीडन, महिलाओं से संबंधित अधिकार, महिलाओं के कानूनी अधिकार के अन्तर्गत महिलाओं का भरण-पोषण, घरेलू हिंसा से महिलाओं की सुरक्षा अधिनियम, दहेज निवारण कानून, टोनही प्रताड़ना अधिनियम, महिलाओं के भरण-पोषण संबंधी पति से अधिकार कानून के बारे में विस्तार से जानकारी दी। वहां उपस्थित व्यक्तियों द्वारा पूछे गये प्रश्नों व समस्याओं का जवाब प्र्रदान किया गया। इस दौरान बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष सनत सोनबरसा, सदस्य श्रीमती रेणू नायेक, एवं अन्य व्यक्ति उपस्थित रहे।

    और जानें :  # CG News # Balod News
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें