Naidunia
    Friday, September 22, 2017
    PreviousNext

    गंदे पानी की सप्लाई के विरोध में भाजपा पार्षदों का ड्रामा, निगम ने जब्त किया तंबू और सामान

    Published: Fri, 19 May 2017 11:23 PM (IST) | Updated: Fri, 19 May 2017 11:23 PM (IST)
    By: Editorial Team

    भिलाई। वार्ड-26 व 27 के हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में नलों से आ रहे गंदे पानी के विरोध में भाजपा पार्षदों ने शुक्र वार को निगम गेट के सामने ड्रामा कर विरोध जताया। गंदे पानी की प्याऊ खोलकर एमआईसी सदस्यों और अधिकारियों को गंदा पानी पीने को दिया और बीमार होने का आमंत्रण दिया। पार्षदों ने इस स्थिति के लिए महापौर और एमआईसी सदस्यों को जिम्मेदार ठहराया और सभी को बीमारी के नाम की उपाधि देते हुए बैनर भी टांगा। पार्षदों के ड्रामे के दौरान निगम के दस्ते ने उनके टेंट, पंडाल और अन्य सामान को जब्त कर लिया। बाद में पार्षदों की मांग पर निगम प्रशासन ने सामान को वापस लौटा दिया।

    वार्ड-26 के पार्षद पीयूष मिश्रा की अगुवाई में भाजपा पार्षदों ने निगम के सामने अलग तरीके से प्रदर्शन किया। नलों से सीवरेज का पानी आने के विरोध में पार्षदों ने निगम के गेट पर गंदे पानी का प्याऊ खोली। पार्षदों ने गंदे पानी के चलते होने वाली बीमारियों के भयंकर परिणाम को बताने के लिए बीमारी का नाटक किया और जमीन पर लेट कर ग्लूकोज चड़वाने का डेमो दिया। इसके बाद प्रदर्शनकारियों ने आयुक्त, महापौर समेत सभी अधिकारियों और एमआईसी सदस्यों को कक्ष में जाकर गंदा पानी दिया और उनसे वह पानी पीने की मांग की। इस प्रदर्शन पर आयुक्त ने शीघ्र ही समस्याओं का निराकरण करने का आश्वासन दिया। पार्षद जब सभी अधिकारियों और एमआईसी सदस्यों के कक्ष में गंदा पानी बांट रहे थे तभी निगम के दस्ते ने प्रदर्शनकारियों के सामान और तंबू को जब्त कर लिया। प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे पार्षद पीयूष मिश्रा ने बताया कि साफ पानी के लिए हाउसिंग बोर्ड के लोग लंबे समय से संघर्ष कर रहे हैं। लगातार निगम के जोन और मुख्य कार्यालय में जाकर इस संबंध में अधिकारियों से शिकायत की गई, लेकिन अभी तक इसे सुधरवाने के लिए कोई सार्थक प्रयास नहीं किया गया।

    पार्षद ने आरोप लगाया कि महापौर देवेन्द्र यादव खुद भी हाउसिंग बोर्ड के निवासी हैं और उन्होंने भी चार बार कॉलोनी का दौरा कर इस समस्या का निराकरण कराने का आश्वासन दिया था। गंदे पानी के चलते वार्ड में पीलिया, डायरिया, कॉलरा, हैजा, दस्त, चर्म रोग जैसी बीमारियां फैल रही हैं। प्रदर्शन के दौरान जोन अध्यक्ष राकेश अरोरा, जोन अध्यक्ष परमजीत सिंग लाड्डी, जोगेन्दर शर्मा, मार्तण्ड सिंह मनहर, पी श्रीनिवास राव, जे श्रीनिवास राव, मनोज यादव, रिंकू साहू, रश्मि सिंह, सुरेखा खटीक, अनिल सिंह, दिनेश यादव, भोजराज सिन्हा, राजेश प्रधान, दीपक रवाना, मो. आसिफ, छोटेलाल चौधरी और पूर्व पार्षद जय शंकर आदि उपस्थित थे।

    तखत उठा ले गए तो जमीन पर लेट कर किया प्रदर्शन

    भाजपा पार्षद पानी से लोगों को बीमार होता दिखाने के लिए पूरी तैयारी के साथ आए थे। वे अपने साथ चार तखत लाए थे, जिस पर लेट कर वे ग्लूकोज चड़वाने का नाटक करने वाले थे। लेकिन इससे पहले ही निगम के दस्ते ने तखत को जब्त कर लिया। तखत जब्त होने के बाद प्रदर्शनकारियों ने जमीन पर लेट कर ग्लूकोज चड़वाने का नाटक किया। वे अपने साथ ग्लूकोज की बोतल और दूसरे सामान भी लेकर आए थे।

    महापौर और परिषद के सदस्यों को दी बीमारियों की उपाधि

    भाजपा पार्षदों ने महापौर देवेन्द्र यादव समेत परिषद के पूरे सदस्यों को बीमारी के नाम की उपाधि दी। पार्षदों ने जो बैनर टंगवाया था, उसमें महापौर को डॉ. डेथ बताया गया। स्वच्छता प्रभारी लक्ष्मीपति राजू को डॉ. वायरस, जोहन सिन्हा को डॉ. हेपेटाइटिस, डॉ. दिवाकर भारती को डॉ. डेंगू, सोशन लोगन को डॉ. चिकनगुनिया, सुभद्रा सिंह को डॉ. डायरिया, साकेत चंद्राकर को डॉ. कोलेरा, केशव बंछोर को डॉ. टाइफाइड, सूर्यकांत सिन्हा को डॉ. डिसेंट्री, दुर्गा प्रसाद साहू को डॉ. निमोनिया, नीरज पाल को डॉ. बैक्टीरिया, नरेश कोठारी को डॉ. मलेरिया और सदीरन बानो को डॉ. पीलिया की उपाधि दी गई। यहां बताना लाजिमी है कि शासन द्वारा शराब बेचने के निर्णय लेने के बाद कांग्र ेसियों ने भी आकाशगंगा में सरकार के मंत्रियों के नाम से दारू की ब्र ांडिंग कर विरोध किया था। भाजपा पार्षदों ने कांग्र ेसियों के प्रदर्शन को कॉपी किया है।

    प्रतिबंध के चलते उखाड़ा तंबू

    ज्ञात हो कि जिला प्रशासन ने निगम क्षेत्र के आसपास के 500 मीटर के दायरे में किसी भी प्रकार के प्रदर्शन पर प्रतिबंध लगाया है। इसके बाद भी निगम में लगातार प्रदर्शन होते रहे हैं। प्रतिबंध की सूचना लगाए जाने के बाद पहली बार निगम प्रशासन ने प्रदर्शन के खिलाफ किसी प्रकार की कार्रवाई की है। निगम के दस्ते ने तखत, तंबू और बैनर को जब्त किया। हालांकि दोपहर बाद भाजपा पार्षदों के चर्चा करने के बाद उन्हें पूरा सामान लौटा भी दिया गया।

    और जानें :  # CG News # Bhilai News
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें