Naidunia
    Friday, September 22, 2017
    PreviousNext

    बीएसपी प्रबंधन का कार्मिकों को सुझाव, आयकर के मामले में अच्छी छवि वाले सीए से लें सलाह

    Published: Fri, 19 May 2017 11:35 PM (IST) | Updated: Fri, 19 May 2017 11:35 PM (IST)
    By: Editorial Team

    भिलाई। भिलाई स्टील प्लांट (बीएसपी) ने आयकर के मामले में कार्मिकों को सुझाव दिया है। इसमें कहा है कि अच्छी छवि वाले जानकार सीए (चार्टर्ड एकाउंटेंट) से ही आयकर मामलों में सलाह लें। ताकि भविष्य में किसी तरह की परेशानी न हो। इसके अलावा गलत तरीके से आयकर रिफंड के पुराने मामलों में दोषियों को जल्द ही जुर्माने सहित अधिक ली गई राशि को वापस करने का सलाह भी दी गई है।

    बीएसपी के नियमन अनुभाग के वरिष्ठ प्रबंधक विकास चन्द्रा ने कार्मिकों के लिए इसी महीने सर्कुलर जारी किया है। इसमें बताया गया है कि आयकर विभाग द्वारा फर्जी तरीके से अधिक रिफंड प्राप्त करने वाले कार्मिकों के खिलाफ आयकर अधिनियम के तहत मुकदमा दायर करने की कवायद की जा रही है। ऐसे में कार्मिकों को खुद जागरूक होने की जरूरत है। विभाग ने सुझाव दिया कि गलत सुझाव देने वाले आयकर सलाहकारों के सपंर्क में न रहें। इसके अलावा कहा है कि आयकर वापसी दावा अधिकृत चार्टर्ड एकाउंटेंड से ही कराएं और आयकर प्रैक्टिशनरों की सलाह से ही आवेदन करें। बताते हैं कि बीएसपी के नियमन अनुभाग द्वारा पहली बार ऐसी कवायद की गई है, जिसमें आयकर रिफंड के मामले में कार्मिकों को सलाह दी जा रही है।

    यह है मामला

    सूत्रों के मुताबिक आयकर विभाग ने एक शिकायत पर 28 अगस्त 2015 को बीएसपी कर्मियों का आयकर सर्वे किया था। इसमें 14 हजार से अधिक कर्मियों द्वारा गलत तरीके से ज्यादा आयकर रिफंड लेने की आशंका जताई गई थी। जांच में फरवरी 2016 से अगस्त 2016 तक 2374 बीएसपी कार्मिकों द्वारा गलत तरीके से रिफंड लेने का प्रमाण विभाग को मिला था। फिर आगे की जांच में और भी मामले मिले थे।

    सलाहकारों पर हो चुकी है कार्रवाई

    गौरतलब है कि इस मामले की जांच में भिलाई के रेकॉन एसोसिएट के आयकर सलाहकार पवन पवार, विजेंद्र रोग़ डे, संदीप देशमुख व किशोर देशमुख द्वारा बीएसपी कर्मियों को गलत तरीके से आयकर रिफंड लेने में मदद करना पाया गया था। इन सलाहकारों के खिलाफ जुलाई 2016 में ही एफआईआर दर्ज करा दी गई थी। इसके बाद गलत रिफंड लेने वाले कार्मिकों को नोटिस जारी कर करीब दो सौ प्रतिशत जुर्माने के साथ आयकर की राशि जमा कराई जा रही है।

    इन पर ही कानूनी कार्रवाई

    आयकर सूत्रों के मुताबिक गलत तरीके से आयकर रिफंड लेने वाले उन्हीं कर्मियों पर कानूनी कार्रवाई करने की तैयारी की जा रही है, जिन्होंने नोटिस के बाद भी गलत तरीके से ली गई आयकर की राशि व उसपर लगा जुर्माना नहीं भरा है। बताते हैं कि ऐसे कार्मिकों को नोटिस जारी करने की प्रक्रि या भी शुरू कर दी गई है। जल्द ही विधिक कार्रवाई की जा सकती है। बताते हैं कि तय समय पर जुर्माने सहित राशि जमा करने वालों पर कानूनी कार्रवाई नहीं करने की योजना है।

    और जानें :  # CG News # Bhilai News
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें