Naidunia
    Thursday, December 8, 2016
    PreviousNext

    बस का नहीं था किराया, बच्चों को छोड़कर भागा शिक्षक

    Published: Fri, 02 Dec 2016 04:00 AM (IST) | Updated: Fri, 02 Dec 2016 04:00 AM (IST)
    By: Editorial Team

    बैकुन्ठपुर। नईदुनिया न्यूज

    संकुल स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता में शामिल होने आए बच्चों के पास घर वापसी के लिए किराए की रकम नहीं थी। जिन्हें बेपरवाह शिक्षक मौके पर ही छोड़कर भाग निकला। एक दर्जन से अधिक बच्चों को जान जोखिम में डालकर जंगल के रास्ते घर के लिए रवाना होना पड़ा। इस दौरान संयोग से एक भाजपा नेता की नजर बच्चों पर पड़ी और उन्होंने बच्चों को सुरक्षित उनके घर तक पहुंचाया। इस मामले में कलेक्टर ने जांच का आदेश दिया है।

    मनेन्द्रगढ़ ब्लॉक के ग्राम बिहारपुर स्थित शासकीय स्कूल में तीन दिवसीय संकुल स्तरीय खेलकूद का आयोजन किया गया था। बुधवार को खेलकूद का समापन समारोह था। इसमें शामिल होने बुधवार की सुबह घुटरा प्राथमिक और माध्यमिक स्कूल के एक दर्जन से अधिक बच्चों को लेकर शिक्षक अनिल राय यहां पहुंचे थे। ग्राम घुटरा बिहारपुर से लगभग 10 किलोमीटर दूर है। समापन समारोह के बाद सभी बच्चे व शिक्षक अपने घर लौटने लगे, लेकिन ग्राम घुटरा के ज्यादातर बच्चे मौके पर ही रह गए । बच्चों के अनुसार शिक्षक अनिल राय ने उनसे भाड़े के लिए 10 रुपए मांगे थे। जिस पर बच्चों ने रुपए नहीं होने की जानकारी दी। इसके बाद शिक्षक ने उन्हें थोड़ी देर में बस आने की जानकारी दी और उन्हें मौके पर छोड़कर चले गए। बच्चे काफी देर तक बस का इंतजार करते रहे, लेकिन कोई बस नहीं आई। ऐसे में वे जंगल के रास्त ग्राम घुटरा के लिए रवाना हो गए। संयोग से भाजपा के जिला महामंत्री परमानन्द याादव और उनके कुछ साथियों की नजर बच्चों पर पड़ी। वे ग्राम केल्हारी में आयोजित पार्टी की बैठक से अपनी बोलेरो में सवार होकर लौट रहे थे। ढलती शाम को जंगल के रास्ते में बच्चों को अकेला देख उन्होंने गाड़ी रोकी और बच्चों से चर्चा की। पूरा माजरा जानने के बाद वे सभी बच्चों को लेकर ग्राम घुटरा पहुंचे और सभी को सुरक्षित घर पहुंचाया। उन्होंने मामले की जानकारी विभाग के अधिकारियों दी। मामले की जानकारी होने पर कलेक्टर एस प्रकाश ने मनेंद्रगढ़ एसडीएम प्रदीप साहू को जांच का आदेश दिया, वहीं बीईओ शंकर सुवन मिश्रा ने शिक्षक से स्पष्टीकरण मांगा है। मामले में जिला शिक्षा अधिकारी राकेश पांडेय से संपर्क किया गया पर उन्होंने बैठक में शामिल होने का हलावा देकर चर्चा से इनकार कर दिया। वहीं शिक्षक का पक्ष जानने उनसे संपर्क करने का प्रयास किया गया लेकिन उनसे बात नहीं हो सकी।

    वर्जन

    मामले में शिक्षक से स्पष्टीकरण मांगा गया है। उनके पास मामले की पूरी जानकारी उपलब्ध नहीं है।

    - शंकर सुमन मिश्रा, बीईओ मनेन्द्रगढ़ ।

    वर्जन

    मामले में एसडीएम को जांच का आदेश दिया गया है। जांच उपरांत दोषी पाए जाने पर शिक्षक के खिलापᆬ कड़ी कार्रवाई करने कहा गया है।

    -एस प्रकाश, कलेक्टर कोरिया।

    वर्जन

    शिक्षक की करतूत निंदनीय है। विभाग के उच्च अधिकारी को त्वरित जांच एवं कड़ी कार्रवाई करने कहा है।

    श्रीमती चंपा देवी पावले, संसदीय सचिव।

    -------

    और जानें :  # bus ka nahi tha kiraya
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी