Naidunia
    Wednesday, July 26, 2017
    PreviousNext

    कोल इंडिया में अब सिर्फ अधिकारी होंगे बहाल

    Published: Tue, 18 Jul 2017 08:24 AM (IST) | Updated: Tue, 18 Jul 2017 08:24 AM (IST)
    By: Editorial Team

    0 ठेके पर लिए जाएंगे कामगार

    बिश्रामपुर। नईदुनिया न्यूज

    कोल इंडिया के विजन-2020 में स्पष्ट किया गया है कि कोल इंडिया एवं उसकी अनुषंगी कंपनियों में केवल अधिकारी तथा स्टेच्युटरी पोस्ट में माइनिंग सरदार, ओवर मैन, सर्वेयर आदि पदों पर ही बहाली होगी। इसके साथ ही कामगार ठेके पर उपलब्ध होंगे।

    गौरतलब है कि कोल इंडिया में कभी सात लाख से अधिक कामगार हुआ करते थे। वर्तमान में कामगारों की संख्या करीब सवा तीन लाख है। इसके बावजूद कोल इंडिया में मैनपावर अभी भी जरूरत से ज्यादा हैं। इसका उल्लेख कोल इंडिया की विजन रिपोर्ट एवं एचआर पालिसी में हैं। विजन रिपोर्ट में जिक्र किया गया है कि कोल इंडिया से सालाना 750 अधिकारी रिटायर हो रहे हैं। इससे मिडिल एवं टप मैनेजमेंट में अनुभवी अधिकारियों की कमी हो गई है। लगातार पांच साल से हर साल एक-एक हजार नए अधिकारी बहाल हो रहे हैं। कोल इंडिया की मानव संसाधन नीति लगातार बदल रही है। विजन रिपोर्ट में बताया गया है कि कोल सेक्टर संरचनात्मक बदलाव का दौर से गुजर रहा है, इसलिए उसी हिसाब से एचआर पालिसी निर्धारित की जा रही है। कामगारों की छटनी के नए-नए तरकीब इसी नीति का हिस्सा है।

    कामगारों की घटी उपयोगिता

    वर्तमान में कोल इंडिया का 70 प्रतिशत तक उत्पादन आउटसोर्सिंग से हो रहा है। अधिकतर ओपनकास्ट आउटसोर्सिंग कंपनियों के हवाले हैं। कम पैसे में ज्यादा काम के कारण आने वाले दिनों में और आउटसोर्सिंग में वृद्धि होगी। वहीं डेवलपर एवं अपरेटर (एमडीओ) का प्रयोग काफी सफल रहा है। कई बड़े प्रोजेक्ट एमडीओ के हवाले हैं। इसके माध्यम से कोयला क्षेत्र में कई बड़ी निजी कंपनियों का मार्ग प्रशस्त हुआ है। कई निजी या सरकारी कंपनियों के सहयोग से ज्वाइंट वेंचर कर प्रोजेक्ट चलाए जा रहे हैं। इसमें भी ज्यादातर कर्मी ठेके पर उपलब्ध होते हैं।

    और जानें :  # cola india me ab
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी