Naidunia
    Monday, September 25, 2017
    PreviousNext

    शक्तिपीठ में शुरू हुई शारदीय नवरात्र की तैयारियां

    Published: Mon, 08 Sep 2014 07:42 PM (IST) | Updated: Mon, 08 Sep 2014 07:42 PM (IST)
    By: Editorial Team
    08dntspt01 08 09 2014

    दंतेवाड़ा। एक पखवाड़े भर बाद से शुरू हो रहे शारदीय नवरात्र के लिए शक्तिपीठ में तैयारियां शुरू हो चुकी है। दंतेश्वरी मंदिर प्रांगण की सफाई सहित रंग-रोगन का कार्य जोरों पर है। टेम्पल एस्टेट कमेटी ने अन्य तैयारियां भी शुरू कर दी है। ज्योत कलश स्थापना हेतु तेल-घी के लिए निविदा की प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार 8 सौ टिन तेल व 3 सौ टिन घी के लिए टेंडर हुआ है। इसमें घी का दर 5 हजार 7 सौ 40 रुपए तथा तेल 9 सौ 12 रुपए प्रति टिन निर्धारित है।

    कमेटी के अनुसार शारदीय नवरात्र 2013 में लगभग एक सौ टिन तेल का स्टॉक होने से इस वर्ष 8 सौ टिन तेल के लिए ही टेंडर हुआ है। विदित हो कि शारदीय नवरात्र के मौके पर शक्तिपीठ में हर साल मनोकामना ज्योत जलाने वाले श्रद्घालुओं की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। वर्ष 2013 में शारदीय नवरात्र पर दंतेश्वरी मंदिर में 7 हजार 41 तेल व 18 सौ 80 घी के ज्योत भक्तों द्वारा जलाए गए थे।

    बीते वर्षों की तुलना में वासंतिक नवरात्र पर भी मनोकामना ज्योत की संख्या में वृद्घि हो रही है। इसी वर्ष 3 हजार 8 सौ 75 तेल व 9 सौ 86 घी के ज्योत जले थे। मंदिर समिति की मानें तो आगामी शारदीय नवरात्र में ज्योत कलशों की संख्या में और वृद्घि हो सकती है।

    फिलहाल ज्योत कलश स्थापना हेतु तेल-घी के लिए निविदा की प्रक्रिया पूरी करने के उपरांत मिट्टी के कलश व दिये तैयार करने कुम्हारों को ऑर्डर दिए जा चुके है। ज्योति कक्ष के अलावा सत्संग भवन व मावली माता मंदिर में कलश स्थापित किए जाएंगे।

    सौंदर्यीकरण से पहले तैयार होगा घाट

    मंदिर परिसर में डंकनी नदी पर नए घाट का निर्माण सहित सौंदर्यीकरण की कवायद जारी है। यह कार्य कुछ माह पूर्व ही आरंभ हुआ था। इसके चलते नवरात्र तक भले ही घाट सौंदर्यीकरण का कार्य पूर्ण नहीं हो पाएगा, लेकिन शक्तिपीठ आने वाले भक्तों के स्नान हेतु घाट का काम पूरा हो जाएगा।

    फिलहाल नदी किनारे तक नई सीढ़ियों का निर्माण हो चुका है। मिली जानकारी के अनुसार सीढ़ियों के मध्यम आकर्षक लाइटिंग की जाएगी। साथ ही इसके आस-पास पीचिंग उपरांत इंग्लिश ग्रास के साथ बड़ी संख्या में फुलदार पौधे रोपे जाएंगे।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें