Naidunia
    Friday, June 23, 2017
    PreviousNext

    दिल्ली के डॉक्टरों ने बनाया था इंद्राणी के जिंदा होने का प्रमाण-पत्र

    Published: Fri, 17 Feb 2017 03:58 AM (IST) | Updated: Fri, 17 Feb 2017 10:47 AM (IST)
    By: Editorial Team
    indrani das raipur 2017217 104658 17 02 2017

    रायपुर, निप्र। सीरियल किलर उदयन दास ने मां-बाप की हत्या करने के बाद मां की शासकीय पेंशन निकालने के लिए बड़ा फर्जीवाड़ा किया। उसने नई दिल्ली के दो डॉक्टरों से इंद्राणी दास के जीवित होने का प्रमाण-पत्र बनवाया था। उसने बिना तारीख के एक और जीवित प्रमाण-पत्र बनवाकर उसे भी बैंक और विभाग में पेश किया था ताकि हर महीने बैंक खाते में पेंशन की रकम बिना किसी रुकावट के आती रहे और वह उससे अय्याशी करता रहे।

    राजधानी पुलिस ने उदयन के फर्जीवाड़े की जांच तेज कर दी है। एडिशनल एसपी सिटी विजय अग्रवाल ने बताया कि मां-बाप की हत्या, मकान की फर्जी तरीके से रजिस्ट्री कराने, बैंक खाते से लाखों रुपए निकालने के मामले में उदयन के खिलाफ चार अलग-अलग केस दर्ज किए गए हैं। पुलिस सूत्रों ने बताया कि उदयन ने नई दिल्ली की डिफेंस कॉलोनी ए में क्लीनिक चलाने वाले डा. एसके सूरी से संपर्क कर जनवरी 2012 में इंद्राणी दास के जीवित होने का प्रमाण-पत्र बनवाया था।

    प्रमाण-पत्र बनाने इसी कॉलोनी की रचना प्रसाद ने गवाह के रूप में हस्ताक्षर किया। बिना तारीख वाला दूसरा जीवित प्रमाण-पत्र भी डॉ. सूरी के हस्ताक्षर से जारी हुआ है। दोनों प्रमाण-पत्रों में इंद्राणी दास के नाम से किए गए हस्ताक्षर मूल हस्ताक्षर से मेल नहीं खा रहे हैं। आशंका है कि उदयन ने खुद ही मां के नाम का फर्जी हस्ताक्षर कर दोनों प्रमाण-पत्र बनवाए। लिहाजा असलियत जानने के लिए पुलिस ने डॉक्टर सूरी और गवाह रचना प्रसाद को तलब कर पूछताछ करने की तैयारी की है।

    बैंक के पेंशन शाखा के अफसर से पूछताछ

    गुरुवार को सिविल लाइन पुलिस ने सेंट्रल बैंक बैरनबाजार की पेंशन शाखा के अधिकारियों से प्रारंभिक पूछताछ कर यह जानने की कोशिश की उदयन दास का संपर्क बैंक में किन-किन अधिकारी-कर्मचारियों से रहा है। उसने इंद्राणी का जीवित प्रमाण-पत्र किस अधिकारी के पास जमा किया था और बैंक से चेक कैसे इश्यू करा लिया? हालांकि अधिकारियों ने इन सारे सवालों का जवाब पूर्व में पदस्थ रहे मुख्य प्रबंधक से मिलने की बात कही। पुलिस टीम ट्रेजरी की पेंशन शाखा से भी पूरी डिटेल हासिल कर रही है।

    कोर्ट ने उदयन को रायपुर पुलिस को सौंपा

    सीरियल किलर उदयन को बांकुड़ा कोर्ट ने 20 फरवरी तक ट्रांजिट रिमांड पर रायपुर पुलिस को सौंप दिया है। गुरुवार को कोर्ट में पेश किए गए प्रोडक्शन वारंट पर सुनवाई करते हुए जज ने यह आदेश जारी किया। पुलिस टीम उदयन को बांकुड़ा से रायपुर लाने की तैयारी में जुट गई है। एक-दो दिन के भीतर उदयन को यहां लाया जाएगा।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी