Naidunia
    Tuesday, December 12, 2017
    PreviousNext

    अखबार बांटकर पढ़ाई की पढ़ाई, मेरिट लिस्ट में आया नाम

    Published: Fri, 21 Apr 2017 07:56 PM (IST) | Updated: Sat, 22 Apr 2017 08:42 AM (IST)
    By: Editorial Team
    lukki 2017421 20526 21 04 2017

    दुर्ग। अलसुबह अखबार बांटने वाला दुर्ग का लक्की देवांगन सीजी बोर्ड की मेरिट में पांचवें स्थान पर आया है। वहीं श्रेष्ठा गुप्ता ने दसवें क्रम में जगह बनाई है। माध्यमिक शिक्षा मंडल ने शुक्रवार को 10वीं बोर्ड परीक्षा परिणाम घोषित किया। लक्की देवांगन (97 प्रतिशत) शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला तितुरडीह का छात्र है। वहीं श्रेष्ठा गुप्ता (96.17 प्रतिशत) महावीर उच्चतर माध्यमिक शाला की छात्रा है।

    लक्की देवांगन के पिता डेरहाराम देवांगन बढई का काम करते हैं और उसकी माता कल्याणी देवांगन मोहल्ले में घूम-घूम कर सब्जी बेचती हैं। परिवार की आर्थिक हालत अच्छी नहीं होने की वजह से लक्की अपनी पढ़ाई के लिए स्वयं सुबह अखबार बांटने का काम करता है और इससे मिले पैसे से शिक्षण सामग्री जुटाता था। लक्की ने बताया कि हर रोज सुबह 5 बजे वह अखबार लेकर साइकिल से पाठकों के घरों में अखबार पहुंचाता है। तंगी के हालात की वजह से न ही कोई कोचिंग ली और न ही ट्यूशन की।

    होनहार दीदी के नक्शे कदम पर श्रेष्ठा ने पाई सफलता

    श्रेष्ठा गुप्ता ने अपनी बडी बहन के नक्शे कदम पर चलकर 10वीं की मेरिट में सफलता अर्जित की है। उसकी ब डी बहन श्रुति गुप्ता ने पिछले साल 12वीं की मेरिट में स्थान बनाया था। वह उसे घर पर ही कोचिंग देती रही। मध्यम वर्गीय परिवार से ताल्लुक रखने वाली श्रेष्ठा के पिता वीररत्न गुप्ता बेमेतरा जिले के राका झलमला गांव में इलेक्ट्रिकल दुकान चलाते हैं और वहां खेती-किसानी भी देखते हैं। यहां वह अपनी माता संगीता गुप्ता के साथ रहती है।

    जिले का रिजल्ट 63.27 प्रतिशत, बेटियां आगे

    दुर्ग जिले का रिजल्ट भी इस साल बढ़ा है। पिछले दो साल की अपेक्षा इस बार ज्यादा विद्यार्थियों ने सफलता अर्जित की है। परिणाम 63.27 फीसदी रहा। इस बार भी बेटियां आगे रही। लड़कों के मुकाबले 67.07 प्रतिशत बेटियों ने सफलता पाई, जबकि 58.84 प्रतिशत लड़के सफल हो पाए।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें