Naidunia
    Friday, July 21, 2017
    PreviousNext

    खुले में शौच रोकने अब ये तरकीब अपनाया जा रहा

    Published: Fri, 19 May 2017 11:40 PM (IST) | Updated: Sat, 20 May 2017 12:09 AM (IST)
    By: Editorial Team
    odf free 2017520 0945 19 05 2017

    दुर्ग। दुर्ग निगम क्षेत्र को ओडीएफ करने निगम ने खुले में शौच जाने वाले क्षेत्रों में शुक्रवार को झाड़ियों की कटाई की। ताकि लोग झाड़ियों की ओट में न बैठ सकें। शुक्रवार को खुले में शौच जाने वालों की निगरानी के लिए निगम इंजीनियरों की भी ड्यूटी लगाई गई।

    निगम क्षेत्र को खुले में शौचमुक्त बनाने निगम प्रशासन ने कवायद तेज कर दी है। रोजाना सुबह चिन्हित क्षेत्रों की निगरानी की जा रही है। लोग झाड़ियों की ओट में शौच के लिए बैठते हैं। इसे ध्यान में रखते हुए निगम प्रशासन ने चिन्हित क्षेत्रों में झाड़ियों की कटाई का काम शुरू कर दिया है।

    शुक्रवार को पटरीपार के करहीडीह वार्ड के खुले क्षेत्र, पोटिया रोड स्थित मैदान, मोहन नगर रेलवे लाइन व बोरसी भाठा रेलवे लाइन मैदान क्षेत्र में झाड़ियों को कटवाया गया।

    खुले में शौच जाने वालों की निगरानी के लिए अब तक निगम का स्वास्थ्य अमला ही पुलिस जवानों के साथ घूम रहा था, लेकिन शुक्र वार को निगम के इंजीनियरों की भी ड्यूटी लगाई गई। निगम का पूरा अमला सुबह छह बजे से निगरानी के लिए निकल पड़ा।

    इसमें कार्यपालन अभियंता एके दत्ता, भवन अधिकारी आरके जैन, उप अभियंता राजेश पाण्डेय, उपअभियंता जगदीश केशरवानी, राजकिशोर पालिया, एआर रहंगडाले, गिरीश दीवान, विनोद मांझी, भारती ठाकुर, स्वास्थ्य अधिकारी बीएल केशरवानी, वरिष्ठ स्वच्छता निरीक्षक जसवीर सिंह भुपाल सहित अन्य शामिल हैं।

    डेड़ दर्जन चिन्हित क्षेत्रों में पहुंचे अफसर

    निगम के अमले ने शहर के करीब डेड़ दर्जन से अधिक चिन्हित क्षेत्रों में पहुंचकर खुले में शौच जाने वालों की निगरानी की। इसमें सतरुपा शीतला तालाब, ठगड़ा बांध, जोगी नगर, पटरीपार सिकोला तालाब, मठपारा टप्पा तालाब क्षेत्र, मोहन नगर रेलवे लाइन के किनारे, करहीडीह वार्ड, अस्पताल वार्ड, बांधापार क्षेत्र, आजाद वार्ड, मीलपारा क्षेत्र, 39 कचहरी वार्ड स्थित पोटिया रोड गांधीनगर मैदान, पदमनाभपुर उतई नाका, पदमनाभपुर अली गैरेज के पीछे, बोरसी वार्ड रेलवे लाइन किनारे, बोरसी भाठा रेलवे लाइन मैदान, पोटियाकला वार्ड शामिल हैं।

    इस दौरान खुले में शौच आने वालों का नाम दर्ज कर शौचालय के संबंध में उनसे जानकारी ली गई। उन्हें बताया गया कि घर में शौचालय नहीं है तो आसपास स्थित सार्वजनिक शौचालय का उपयोग करें। सरकार शौचालय बनाकर दे रही है। घर में जगह है तो शौचालय बनवाने के लिए आवेदन करें।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी