Naidunia
    Wednesday, March 29, 2017
    PreviousNext

    कलाकारों ने बटोरी खूब तालियां

    Published: Sat, 18 Feb 2017 12:02 AM (IST) | Updated: Sat, 18 Feb 2017 12:02 AM (IST)
    By: Editorial Team

    राजिम। गुरुवार को राजिम महाकुंभ मुख्यमंच पर एक नया अहसास देखने को मिला वो था संस्कृति व पर्यटन विभाग द्वारा बड़े स्क्रीन की व्यवस्था, जिसकी प्रशंसा अंचल सहित दूर-दूर से आये दर्शक कर रहे थे। कार्यक्रम की प्रस्तुति रामाधार सारथी द्वारा शानदार भजन प्रस्तुत कर किया गया। इसके साथ ही सुगम गायन की प्रस्तुति श्रीमती महुआ मजूमदार द्वारा दिया गया। स्थानीय विद्यालय द्वारा नृत्य प्रस्तुत, उड़ीसा से आये दलपति गोपाल व विपिन बिहारी ने उड़ीसा वेशभूषा के साथ वाद्ययंत्रो को लेकर एक राधा एक मीरा गीत के माध्यम से नृत्य प्रस्तुत किया। कौदकेरा शा. प्राथमिक/शासकीय माध्यमिक विद्यालय द्वारा नृत्य प्रस्तुत किए। शिवरीनारायण से आए कावेरी यादव द्वारा गायन प्रस्तुत किया गया। शिवम शिक्षण संस्थान द्वारा गणेश वंदना की गई। छत्तीसगढ़ी प्रसिद्घ जसगीत आमा पान के पतरी करेला पान के दोना... सुनकर दर्शक झूम उठे। लोक कलामंच अर्जुन्दा से दीपक चंद्राकर द्वारा अरपा पैरी के धार महानदी हे अपार.. लोकरंग हे... गोल गोल रानी... जंवारा गीत देशभक्ति गीतऐ मेरे वतन के लोगों... वंदे मातरम्‌ ... के साथ छत्तीसगढ़ के पांरपारिक फागगीत गौरी-गौरा से पुरे मंच को बांधे रखा था।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी