Naidunia
    Tuesday, September 26, 2017
    PreviousNext

    तेंदुए की खाल समेत दो शिकारी गिरफ्तार

    Published: Thu, 16 Feb 2017 12:30 AM (IST) | Updated: Thu, 16 Feb 2017 12:30 AM (IST)
    By: Editorial Team

    गरियाबंद। छुरा थाना अंतर्गत ग्राम रसेला में पुलिस ने तेंदुए के खाल समेत दो शिकारियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस खाल खरीददार बनकर पहुंची थी। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि छत्तीसगढ़ और ओडिशा के जंगलों में वन प्राणियों के शिकार को अंजाम देते थे।

    पुलिस को सूचना को मिली थी कि ग्राम रसेला में दो व्यक्ति तेंदुए के खाल बेचने की फिराक में घूम रहे हैं। सूचना के आधार पर छुरा थाना प्रभारी अमित तिवारी ने आरोपियों को रंगे हाथों पकड़ने की योजना बनाई। इसके तहत पुलिस जवानों को चिन्हित जगह पर भेजा गया। वहां जवान ग्राहक बनकर पहुंचे और शिकारियों को खाल लेकर बुलाया। जहां ओडिशा निवासी केशव मांझी और कनेसर कमार तेंदुए के खाल लेकर पहुंचे। तय रणनीति के तहत आरोपियों के पहुंचते ही पुलिस ने उन्हें धर-दबोचा। आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि मलेवा पहाड़ में तीर-धनुष से तेन्दुए का शिकार किया गया है। उन्होंने ओडिशा तथा छत्तीसगढ़ के रसेला व छुरा के जंगलों में शिकार करने की बात कबूली है। थाना प्रभारी अमित तिवारी ने बताया कि वन्य जीवों के खिलाफ हो रहे अपराधों में भी विशेष निगाहे बनाने का निर्देश बीते दिनों पुलिस अधीक्षक जितेन्द्र मीणा तथा एएसपी नेहा पाण्डये से मिला था। जिसके आधार पर मुखबिरों को सक्रिय किया गया। मुखबिर की सूचना पर दोनों आरोपियों के पकड़ने में सफलता मिली है। बहरहाल, आरोपियों से अन्य शिकारियों की जानकारी मिलने की उम्मीद है।

    जिले में वन्य प्राणियों का शामत, विभाग मौन

    जिले के वन्य प्राणियों को शिकारियों की नजर लग गई है। यहीं वजह है कि वनांचल के विभिन्ना जगहों वन्य जीवों से शिकार की खबर आती रहती है। इसके बाद भी वन विभाग का अमला खामोश बैठा हुआ है। शिकारियों को पकड़ने अभी तक वन विभाग ने ठोस पहल नहीं की है। यहां ये बता दें कि पिछले दिनों मैनपुर थाना क्षेत्र में तेंदुए के तीन खाल बरामद किए गए थे। इस कार्रवाई को भी पुलिस ने अंजाम दिया था।

    एक साल में तीन खाल बरामद

    इस घटना ने एक बार फिर वन विभाग की कार्यप्रणाली को सवालों के घेरे में खड़े कर दिया है। शेड्यूल 1 के तहत सर्वधिक संरक्षित प्रजाति के वन्यजीव तेंदुए का शिकार इस क्षेत्र में हो रहे हैं। पिछले एक साल में गरियाबंद जिले के छुरा व मैनपुर इन दोनों थाने के अंतर्गत ही 3 खाले बरामद हो चुकी है। इससे यह स्पष्ट है कि इन इलाकों में तेंदुए का शिकार हो रहा है। वहीं इसके खाल को खरीदने वाले भी समय-समय पर बाहर से आ रहे हैं । जिनके लिए ही खाल निकालने तेंदुओं का शिकार किया जा रहा है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें