Naidunia
    Saturday, November 18, 2017
    PreviousNext

    नाबालिग बेटी के साथ मिलकर पति की हत्या की, फिर खूब धोए खून लगे कपड़े

    Published: Tue, 18 Jul 2017 08:23 AM (IST) | Updated: Tue, 18 Jul 2017 10:58 AM (IST)
    By: Editorial Team
    husband murder 2017718 93747 18 07 2017

    जशपुरनगर, रायगढ़ । गत सात जुलाई को कुनकुरी थाने में करेसई घासीमुंडा निवासी कृष्णा राम के उपर जानलेवा हमले की रिपोर्ट पत्नी सीतामनी बाई के द्वारा दर्ज कराई गई थी। कृष्णा राम को गंभीर स्थिति में कुनकुरी होलिक्रास होस्पीटल में भर्ती कराया गया था और अज्ञात आरोपियों पर आशंका जताई गई थी।

    इलाज के दौरान कृष्णा राम की मौत हो गई। पुलिस ने मामले में खुलासा करते हुए बताया कि मृतक की पत्नी ने ही पति की हत्या की और पुलिस को गुमराह करने का प्रयास किया गया।

    मामले में खुलासा करते हुए पुलिस ने बताया कि 8 जुलाई को प्रार्थिया सीतामनी बाई निवासी केरसई घासीमुंडा ने रिपोर्ट दर्ज कराया था कि किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा उसके पति कृष्णा राम को धारदार हथियार से मारकर घायल कर दिया गया है, जिसे उपचार हेतु होलीक्रॉस अस्पताल कुनकुरी में भर्ती कराया गया।

    आहत को बेहतर ईलाज के लिए अम्बिकापुर रिफर किया गया था। जहां 11 जुलाई को कृष्णा राम की मौत हो गई। पुलिस के द्वारा मामले की जांज में प्रार्थिया ने पुलिस को गुमराह करने का हरसंभव प्रयास किया। पुलिस अधीक्षक जशपुर प्रशांत सिंह ठाकुर के कुशल मार्गदर्शन एवं निर्देशन में प्रार्थिया एवं गवाहों से सघन पूछताछ करने पर प्रार्थिया के द्वारा अपराध घटित करना स्वीकार किया गया।

    प्रार्थिया ने पूछताछ में बताया कि उसके पति कृष्णा राम उसके चरित्र पर शंका करता था। पति शराब पीकर हमेशा मारपीट करता था। घटना दिनांक 7 जुलाई को आरोपिया सीतामनी बाई के देवर के यहां मेहमान आईथी। जिसमें कृष्णा राम खूब शराब पिया और अपनी पत्नी से मारपीट भी किया।

    उसी रात करीब 11-12 बजे आरोपिया ने अपनी नाबालिग बेटी के साथ मिलकर अपने पति को लकड़ी के डंडे एवं चाकू से मारा एवं मृत समझकर दोनों मॉं-बेटी खून लगे कपड़ों को धोकर चाकू को छुपा दिये। अपने चाचा ससूर के यहां इमलीडीपा गांव चले गए।

    दूसरे दिन सुबह आरोपिया के देवर द्वारा घटना के बारे में जाकर उनको बताने पर वापस घर आये और घायल कृष्णा राम को ईलाज के लिए होलीक्रास अस्पताल कुनकुरी ले गये थे। आरोपिया व उसकी नाबालिग लड़की के द्वारा अपराध स्वीकार करने पर आरोपिया सीतामनी बाई को गिरफ्तार कर एवं उसकी नाबालिग लड़की को अभिरक्षा में लेकर न्यायिक रिमांड में भेजा गया।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें