Naidunia
    Saturday, July 22, 2017
    PreviousNext

    दो दिन से जल रहा कोयनार में सागौन प्लांट

    Published: Fri, 17 Feb 2017 11:54 PM (IST) | Updated: Fri, 17 Feb 2017 11:54 PM (IST)
    By: Editorial Team

    जगदलपुर। ब्यूरो

    वनपरिक्षेत्र अंतर्गत ग्राम कोयनार में 30 साल पहले रोपे गए सागौन प्लांट में दो दिनों से आग लगी हुई है, लेकिन आग बुझाने का प्रयास वन कर्मियों द्वारा नहीं किया जा रहा है, जबकि विभाग ने इस बार 175 फॉयर वॉच की नियुक्ति की है। इस आगजनी के चलते प्लांटेशन के नीचे विभिन्न प्रकार की वनौषधियां भी नष्ट हो रही हैं। बताया गया कि पिछले साल वनमंडल में 25 से अधिक आगजनी की घटनाएं हुई थीं। इस वर्ष भी अब तक आगजनी की छोटी बड़ी करीब पांच घटनाएं हो चुकी हैं।

    जिला मुख्यालय से लगभग 15 किमी दूर कोयनार पंचायत के आश्रित ग्राम नवापारा से केशापुर मार्ग किनारे वन विभाग का पुराना सागौन प्लांटेशन है। इस प्लांटेशन में बुधवार से आग लगी हुई है। नईदुनिया को इस घटना की जानकारी गुरूवार को मिली । शाम साढ़े छह बजे जब यह संवाददाता मौका स्थल पर पहुंचा तो भी जंगल जल रहा था। इस दानावल से 30 वर्ष पहले रोपे गए सागौन पेड़ों के नीचे की झाड़ियां और कई वनौषधियां भी स्वाहा हो गई हैं। नवापारा के ग्रामीणों ने बताया कि दो दिन से जंगल में आग लगी हुई है लेकिन वन विभाग द्वारा नियुक्त एक भी फायर वॉच आग बुझाने नहीं पहुंचा।

    ज्ञात हो कि पतझड़ शुरू होते ही जंगलों में आग लगने की घटनाएं बढ़ जाती है। इसे बुझाने के लिए वन विभाग हर साल फॉयर वॉच नियुक्ति करता रहा है। ये वनों में झोपड़ी बना कर रहते हैं और दानावल से वनों की रक्षा करते हैं, लेकिन नियुक्ति के 15 दिनों बाद भी जंगलों में फॉयर वॉच नजर नहीं आ रहे हैं।

    25 आगजनी

    'वर्ष 2016 में वनमंडल में आगजनी की करीब 25 वारदातें हुई थीं। वनों को दानावल से बचाने के लिए इस बार फॉयर वॉचों की 148 से बढ़ाकर 175 कर दी गई है।'

    -एनआर खूंटे, उप वनमंडलाधिकारी।

    और जानें :  # Cg News # Jagdalpur News
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी