Naidunia
    Friday, August 18, 2017
    PreviousNext

    मोबाइल ने शादी के पांच दिन में ही पति-पत्नी को किया दूर

    Published: Tue, 11 Apr 2017 11:59 PM (IST) | Updated: Wed, 12 Apr 2017 02:17 PM (IST)
    By: Editorial Team
    bride on mobile 2017412 135752 11 04 2017

    जगदलपुर। धुरवा समाज की संभाग स्तरीय बैठक रविवार को धुरवा ओलेक तेतरखुटी में संरक्षक मोतीराम कश्यप की अध्यक्षता में रखी गई। धुरवा आदिवासी समाज में पहली बार शादी के पांच दिन में ही मोबाइल से दोस्तों से बात करना दूल्हा-दुल्हन को एक दूसरे से दूर ले गया। समाज में प्रकरण रखा गया और पति-पत्नी के विवाद को खत्म किया गया और वे खुशी-खुशी घर लौटे।

    दूसरा प्रकरण पत्नी और चार वर्ष के बच्चे का घर से दूर रहने के कारण पति द्वारा दूसरी औरत लाने से पहली पत्नी द्वारा समाज में प्रकरण लाया गया था जिसमें पति और पहली पत्नी की सहमति से दूसरी पत्नी के साथ रहने का निर्णय लिया गया। समाज द्वारा पति को दोनों पत्नी का भरण-पोषण कर जीवन यापन करने का निर्देश दिया गया।

    बैठक में धुरवा समाज का स्थापना दिवस 9 मई को हर्षोल्लास से मनाने का निर्णय सर्वसम्मति से लिया गया। प्रतिवर्ष 9 जून को संभाग स्तरीय कार्यालय द्वारा सामाजिक ओलेख मनाया जाता था जिसे इस वर्ष दो दिवसीय 8 और 9 मई को मनाने का निर्णय लिया गया।

    इस अवसर पर सुदेश कुमार नाग, गंगाराम कश्यप, सोनसिंह राज, चैतूराम बघेल, सोनसारी बघेल, महादेव नाग, पप्पूराम नाग, चेरगुराम नाग, संतोष बघेल, मदनलाल नाग, जगन्नाथ बघेल, सामनाथ कश्यप, नोहरू कश्यप, गडरू नाग, दयाराम कश्यप, मारसाय नाग, दशाराम कश्यप, रामचंद्र नाग, धरम बघेल प्रमुख रुप से उपस्थित थे।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें