Naidunia
    Monday, November 20, 2017
    PreviousNext

    उसने सीरियल का एक-एक सीन गौर से देखा, फिर रची ऐसी साजिश

    Published: Wed, 13 Sep 2017 12:46 AM (IST) | Updated: Wed, 13 Sep 2017 09:15 PM (IST)
    By: Editorial Team
    watching tv indian 2017913 104423 13 09 2017

    कांकेर। शहर के कुछ व्यापारियों को बम से उड़ाने की धमकी देने वाला आरोपी युवक सेमुअल दास (27) निवासी ग्राम मनकेसरी पुलिस के हत्थे चढ़ गया। पकड़े जाने के बाद युवक ने बताया कि उसे पैसों की जरूरत थी और टीवी सीरियल को देखकर फिरौती की मांग करने का आइडिया आया था। जिसके चलते ही उसने व्यापारियों को मोबाइल पर कॉल कर फिरौती की मांग की थी। हालांकि युवक अपने मंसूबे में कामयाब नहीं हो सका।

    पिछले कुछ दिनों से एक युवक ने शहर के कुछ व्यापारियों की नींद उड़ा रखी थी। युवक इन व्यापारियों को मोबाइल पर फोन कर फिरौती की मांग कर रहा था और फिरौती की रकम न देने की स्थिति में बम से उड़ा देने की धमकी दे रहा था।

    व्यापारियों ने मामले की शिकायत पुलिस थाने में की थी। पुलिस फिरौती की मांग करने वाले युवक की तलाश में जुटी हुई थी। आरोपी युवक को मंगलवार को पुलिस ने धर दबोचा। थाना प्रभारी आरपी सिंह ने बताया कि 8 सितंबर से शहर के व्यापाारी अरूण कौशिक, बलराम आहूजा, नीतिन दवे सहित कुछ अन्य को मोबाइल पर युवक पांच-पांच लाख रूपए फिरौती की मांग कर रहा था।

    जिसकी शिकायत व्यापारियों ने की थी। सोमवार को अज्ञात युवक के खिलाफ धारा 384 के तहत मामला दर्ज कर उसे ट्रेस किया जा रहा था। इसी दौरान मंगलवार दोपहर व्यापारी नितिन दवे के पास लगातार उक्त युवक फिरौती की मांग को लेकर फोन कर रहा था।

    जिसकी सूचना नितिन दवे ने थाने में दी। उसे उक्त युवक से सामान्य ढंग से बात कर पैसा देने को तैयार कर उससे मिलने के राजी करने को कहा गया था। नितिन दवे ने उस युवक से बात की और ढाई लाख रूपए देने को तैयार हो गया।

    नितिन ने पैसे लेकर आने की जगह पूछी तो युवक ने नरहरदेव स्कूल मैदान में पैसे लाने को कहा। दूसरी ओर सूचना पर एसआई संदीप कुमार बंजारे आरोपी युवक की तलाश में नरहरदेव मैदान में पहुंचे। जहां एक युवक मैदान के किनारे पेड़ के पास खड़े होकर मोबाइल पर बात कर रहा था।

    एसआई संदीप कुमार को उस पर शक हो गया। पुलिस ने नितिन दवे से संपर्क कर मोबाइल पर बात बंद करने कहा। वहीं दूसरी ओर नरहरदेव मैदान में युवक ने भी मोबाइल रख दिया। इससे शक यकीन में बदल गया और एसआई संदीप कुमार ने युवक को धर दबोचा।

    होटल में वेटर का काम करता है युवक

    सेमुअल दास पिता संतोष दास शहर के होटल सुंदरम में वेटर का काम करता है। उसने बताया कि वह पिछले चार वर्ष से होटल में काम कर रहा है। उसके पिता ने उसकी शादी के लिए कर्ज लिया था। कर्ज का बोझ होने के कारण ही उसने यह कदम उठाया। फिरौती की मांग करने का यह आइडिया उसे टीवी में आने वाले क्राइम सीरियल को देखकर आया था।

    कैलेंडर से मिला व्यापारियों का नंबर

    होटल सुंदरम में अक्सर चेम्बर ऑफ कार्मस की बैठक होती थी, जिसे सेमुअल दास देखा करता था। जिससे उसने अंदाजा लगा लिया था कि उसे किन लोगों को फोनकर फिरौती मांगनी है। उसने बताया कि होटल में एक कैलेंडर है, जिसमें शहर के व्यापारियों के मोबाइल नंबर है। उस कैलेंडर से ही नंबर लेकर उसने फिरौती के लिए व्यापारियों को फोन करता था।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें