Naidunia
    Saturday, December 16, 2017
    PreviousNext

    सावन से पहले चिकन खाने के लिए मांगी एक सप्ताह की छुट्टी

    Published: Sat, 17 Jun 2017 09:15 PM (IST) | Updated: Mon, 19 Jun 2017 10:31 AM (IST)
    By: Editorial Team
    chicken 17 06 2017

    कोरबा। सावन के सुहाने मौसम का तो हर किसी को इंतजार रहता है, पर एक रेलवे कर्मचारी है, जिसे सावन की चिंता अभी से सताने लगी है। जी हां ! आप सुन कर चौक जाएंगे, क्योंकि चिंता चिकन की है। सावन के पूरे माह नॉनवेज से दूर रहना पड़ेगा, इसलिए उसने एक सप्ताह की छुट्टी का आवेदन प्रस्तुत कर दिया। उसने विषय में ही चिकन खाने एक सप्ताह की छुट्टी देने का जिक्र किया है।

    यह रोचक मामला दीपका रेलवे साइडिंग का है। बताया जा रहा है कि यहां ग्रेड टीए-2 (पोर्टर) के पद पर कार्यरत रेलकर्मी पंकज राज गोंड़ ने दीपका साइडिंग के स्टेशन मास्टर श्याम बारगे से 15 जून को मुलाकात कर कुछ दिनों की छुट्टी मांगी।

    उस वक्त स्टेशन मास्टर ने इसे गंभीरता से नहीं लिया और अवकाश पर चल रहे कुछ स्टाफ के लौटने पर छुट्टी देने की बात कह दी। 17 जून को पंकज राज का एक आवेदन सोशल मीडिया में वायरल हो गया।

    पत्र में लिखा है कि मैं पंकज गाेंड़ दीपका रेलवे साइडिंग में कार्यरत हूं। महोदय से हाथ जोड़ कर निवेदन है कि अगले माह से सावन शुरू हो रहा, इसलिए घर में चिकन नहीं बनेगा। चिकन नहीं खाया तो शरीर में कमजोरी आ जाएगी और मैं दीपका साइडिंग में 24 घंटे कार्य नहीं कर पाऊंगा। अत: महोदय से निवेदन है कि मुझे चिकन खाने के लिए 20 से 27 जून तक छुट्टी देने की कृपा करें, ताकि मैं सात दिन में चिकन खा कर एक महीने का कवर कर सकूं।

    यहां बताना आवश्यक होगा कि पुलिसकर्मियों की तरह ही रेलकर्मियों की भी ड्यूटी अवधि 24 घंटे मानी जाती है। खास बात यह है कि पंकज की अनुकंपा नियुक्ति कुछ माह पहले ही हुई है।

    कमेंट्स के साथ भरपूर पोस्ट

    खास बात यह है कि सोशल मीडिया में वायरल इस छुट्टी के आवेदन पत्र में स्टेशन मास्टर दीपका का सील और हस्ताक्षर है। इससे यह माना जा रहा है कि स्टेशन मास्टर ने चिकन खाने के लिए सप्ताह भर की छुट्टी स्वीकृत की है। इस पर कमेंट्स करते हुए आगे पोस्ट किया जा रहा है।

    हो सकती है कार्रवाई

    रेल प्रबंधन आवेदन नहीं मिलने की बात कह पल्ला झाड़ रहा, पर जिस तेजी से सोशल मीडिया में सील व हस्ताक्षर युक्त आवेदन वायरल है, इसे लेकर अधिकारी परेशान हैं। माना जा रहा है कि गलत ढंग से सील का इस्तेमाल को अनुशासनहीनता मानते हुए रेलकर्मी पंकज राज पर कार्रवाई की जा सकती है।

    इनका कहना है

    आवेदन नहीं मिला है। सील टेबल रखा रहता है, हो सकता है बिना अनुमति अपने मजाकिया आवेदन में सील लगा कर फर्जी हस्ताक्षर कर दिया हो। यह बात सही है कि तीन दिन पहले उसने छुट्टी मांगी थी, मैंने उसे कुछ दिन इंतजार करने कहा था। इस तरह के आवेदन के वायरल होने की जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों दे दी है।

    - श्याम बारगे, स्टेशन मास्टर, दीपका रेलवे साइडिंग ।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें