Naidunia
    Saturday, October 21, 2017
    PreviousNext

    सतनाम प्रांगण में मनेगी गुरु बालकदास की जयंती

    Published: Sun, 13 Aug 2017 04:03 AM (IST) | Updated: Sun, 13 Aug 2017 04:03 AM (IST)
    By: Editorial Team

    कोरबा। नईदुनिया प्रतिनिधि

    सतनाम सेना के तत्वावधान में समाज के प्रेरणास्त्रोत रहे क्रांतिकारी राजा गुरू बालकदास की जयंती 15 अगस्त को सतनाम प्रांगण में मनाया जाएगा। आयोजन का उद्देश्य समाज को एकता व संगठन सूत्र में पिरोए रखना है।

    इस आशय की जानकारी देते हुए सतनाम सेना के प्रमुख व राज महंत कीर्तन लाल भारद्वाज ने बताया कि सतनामी समाज के आस्था का केंद्र भंडारपुरी धाम के वंश गुरू बालदास के मार्गदर्शन में यह आयोजन किया जा रहा है। गुरू बालकदास के जीवन पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने बताया कि वे सतनाम पंथ के प्रवर्तक गुरू घासीदास बाबा के द्वितीय पुत्र थे। बालकदास ने अपने पिता के सतनाम पंथ को आगे बढ़ाते हुए उनके संदेशों को जन-जन तक पहुंचाने का काम किया। समाज को सतनाम सूत्र में बांधते हुए उन्होंने व्यस्था को सुचारू रूप से चलाने के लिए 5 पंच, भंडारी, छड़ीदार एवं समाज के सर्वोच्च पद राजमहंतों की नियुक्ति कर जिम्मेदारी प्रदान की। यह परिपाटी आज भी चली आ रही है। बालकदास ने समाजिक समरसता को गति प्रदान करते हुए सतनाम पंथ को नई दिशा दी। उनके आदर्शों को जन-जन तक पहुंचाने के लिए प्रति वर्ष भाद्र पद अष्टमी को जयंती मनाया जाता है। इसी कड़ी में 15 अगस्त को बालकदास की जयंती सतनाम प्रांगण टीपी नगर में आयोजित की जाएगी। इस अवसर पर सतनाम सेना कोरबा की ओर से जिला चिकित्साल में मरीजों व उनके परिजनों को गुरू प्रसादी भोजन का वितरण किया जाएगा। जयंती के माध्यम से आने वाले समय में समाज को एकसूत्र में पिरोए रखना आयोजन का मुख्य उद्देश्य है। वार्ता के दौरान सतनाम सेना के राष्ट्रीय प्रवक्ता एसआर अंचल, जगदीश मिरी, देव रत्नाकर, सुमन खांडे, विजय दिवाकर, जन्नूराम कुर्रे, अनिकेत पाटले, कलाराम कुर्रे, अमरनाथ बंजारे, संतदास दिवाकर सहित खासी तादात में कार्यकर्ता उपस्थित थे।

    और जानें :  # satnam prangan me
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें