Naidunia
    Wednesday, December 13, 2017

    12 गांवों में लो-वोल्टेज की समस्या होगी दूर, 13 हजार ग्रामीणों को होगा फायदा

    Wed, 13 Dec 2017 07:05 AM (IST)

    तखतपुर। नईदुनिया न्यूज मुख्यमंत्री ऊर्जा प्रवाह योजना अंतर्गत तखतपुर विकासखंड के ग्राम खरकेना में बिजली तिहार का आयोजन किया गया। इस मौके पर ग्राम खरकेना में 5 एमवी 33/11 केवी उपकेंद्र का लोकार्पण सांसद लखनलाल साहू एवं विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने किया। करीब 2 करोड़ की लागत से निर्मित विद्युत उपकेंद्र से 4 नए 11 केवी फीडर से 12 गांव

    देवों के देव हैं भगवान शिव : सवन्नी

    Wed, 13 Dec 2017 07:04 AM (IST)

    सकरी। नईदुनिया न्यूज भगवान शिव की महिमा से हर कोई परिचित है, वो भोलेनाथ के नाम से भी जाने जाते हैं, वहीं उन्हें महाकाल भी कहा जाता है। वे देवों के देव है। उनकी भक्ति से भय और क्लेश दूर होता है। उक्त बातें ग्राम सैदा में भगवान शिव के मंदिर लोकार्पण अवसर पर छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष भूपेंद्र सवन्नी ने कही। उन्होंने कहा कि ग्राम

    विद्युत उपकेंद्र बनने से लो-वोल्टेज व कटौती से मिलेगी निजात :मोहले

    Wed, 13 Dec 2017 07:04 AM (IST)

    मुंगेली। खाद्य मंत्री पुन्नूलाल मोहले ने लोरमी के ग्राम सांवतपुर में 33/11 केवी के विद्युत उपकेंद्र का लोकार्पण किया एवं बिजली तिहार का शुभारंभ किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि इस विद्युत उपकेंद्र के बन जाने से ग्रामवासियों एवं आसपास के लोगों को लो-वोल्टेज और विद्युत कटौती से निजात मिलेगी। सौभाग्य योजना हर घर बिजली के तहत निःशुल्क विद्युत कन

    कठौतिया प्राथमिक स्कूल में प्रधानपाठक भवन अधर में

    Tue, 12 Dec 2017 11:07 PM (IST)

    खोडरी। नईदुनिया न्यूज गौरेला जनपद पंचायत के अंतर्गत ठेंगाडांड के आश्रित ग्राम कठौतिया में सर्वशिक्षा अभियान के तहत निर्माणाधीन प्रधानपाठक भवन सात साल बाद भी अधर में है। मामले की जानकारी ब्लाक शिक्षा अधिकारी गौरेला को है इसके बाद उन्होंने निर्माण कार्य को लेकर सुध नहीं ली। परिणाम स्वरूप वर्षों बीत जाने के बाद भवन निर्माण अधर में है। जनपद पंचायत गौ

    दिव्यांग स्कूली छात्रों को बेहतर प्रदर्शन के लिए करें प्रोत्साहित

    Tue, 12 Dec 2017 11:06 PM (IST)

    करगीरोड- कोटा। नईदुनिया न्यूज स्कूली बधो अपनी खेल प्रतिभा का प्रदर्शन कर यह सिद्घ कर दिए हैं कि यदि उन्हें प्रोत्साहन दिया जाता है, तो और भी बेहतर प्रदर्शन किया जा सकता है। बधो ईश्वर की देन है अतः हर व्यक्ति को खासकर ऐसे बधाों का सेवाभाव से मदद करनी चाहिए। उक्त बातें शासकीय उधातर माध्यमिक शाला डीकेपी में अंतर्राष्ट्रीय दिव्यांगजन दिवस के अवसर पर

    मनरेगा में काम मिलने से श्रमिक हो रहे खुशहाल

    Tue, 12 Dec 2017 11:05 PM (IST)

    मुंगेली। महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के अंतर्गत मुंगेली जिले में 1 लाख 14 हजार 541 जॉब कार्ड जारी किया गया है। समय-समय पर मांग अनुसार काम उपलब्ध कराया जा रहा है जिसकी प्रविष्टि एमआईएस रिपोर्ट में प्रतिदिन की जा रही है। जिले में क्रियाशील श्रमिकों की संख्या कुल 1 लाख 83 हजार 455 है जिसमें 87 हजार 490 महिला श्रमिक है। कार्य की स्वीकृ

    रोट्रेक्ट क्लब ने स्कूलों में वितरण किया स्वेटर

    Tue, 12 Dec 2017 11:04 PM (IST)

    मुंगेली। नईदुनिया न्यूज जिले में इन दिनों कड़ाके की ठंड बढ़ रही है। लोग ठंड से बचने के लिए गर्म कपड़ों का सहारा ले रहे हैं। वहीं नगर की समाजिक संगठन, संस्था के द्वारा जरूरतमंदों को राहत दिलाने के लिए गर्म कपड़े बांटे जा रहे हैं। इस कड़ी में प्राथमिक स्कूल में गर्म बांटे गए। ज्ञात हो इन दिनों अंचल में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। लोगों की

    चौराहे पर कवियों ने किया पाठ

    Tue, 12 Dec 2017 10:40 PM (IST)

    मुंगेली। चैराहे कविता पर की स्थापना दिवस के अवसर पर विजयपुर में कवियों ने कविता पाठ किया। जिसमे कविता चैराहे के संयोजक राकेशगुप्त निर्मल, जगदीश देवांगन आयोजक प्रेम कुमार वर्मा, राजकुमार शुक्ला ,ज्वाला कश्यप,रामकुमार बंजारा,होरीलाल साहू,अनंत देवांगन, गोविंद पांडेय, भूपेश पांडेय, हेमंत कश्यप, दौलत सिंह ठाकुर, गज्जाू राम साहू के साथ ग्रामीणा

    स्कूल में छह माही परीक्षा शुरू

    Tue, 12 Dec 2017 10:40 PM (IST)

    मुंगेली। शिक्षाकर्मियों के हड़ताल स्थगित के बाद जिले के सभी सरकारी स्कूलों में अर्धवार्षिक परीक्षा शुरू गई है। जो 19 दिसंबर तक चलेगी। इस सबंध में कार्यालय डीईओ एनके चंद्रा ने बताया कि कक्षा पहल से आठवीं की कक्षाओं की परीक्षा सुबह 10 से एवं कक्षा 9 से 12 तक की कक्षाओं की परीक्षा दोपहर 1 से 4 तक संचालित की जा रही है। उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन

    संस्कृत की छह दिवसीय कार्यशाला शुरू

    Tue, 12 Dec 2017 10:40 PM (IST)

    मुुंगेली। नईदुनिया न्यूज संस्कृत को देवों की भाषा कहा जाता है और सामान्य लोगों के द्वारा इसे दुरूह भाषा मानकर हमेशा इसकी उपेक्षा की जाती रही है। लेकिन अगर देखा जाए तो संस्कृत विश्व की एकमात्र ऐसी भाषा है जिसके शब्दकोश अरबों की संख्या में है। इसलिए यदि बोलचाल की भाषा में प्रयोग किया जाए तो यह सबसे सरल भाषा है। उक्त बातें छत्तीसगढ़ संस्कृत

    जरूर पढ़ें