Naidunia
    Monday, December 11, 2017
    PreviousNext

    स्वीकृति के तीन माह बाद भी नहीं बना सब स्टेशन

    Published: Tue, 20 Jun 2017 10:39 PM (IST) | Updated: Tue, 20 Jun 2017 10:39 PM (IST)
    By: Editorial Team

    पᆬोटोः20जानपी 16

    बरसात के पहले ही चरमराई बिजली व्यवस्था

    दो सब स्टेशनों के लिए मिली है स्वीकृति

    जांजगीर-चाम्पा। नईदुनिया प्रतिनिधि। जिला मुख्यालय सहित आसपास के क्षेत्रों में पूरी तरह बिजली व्यवस्था चरमरा गई है। यहां आए दिन बिजली कटौती से नगरवासियों को परेशान होना पड़ रहा है। वहीं दूसरी ओर साल दर साल शहर की जनसंख्या बढ़ने के चलते यहां लगे सब स्टेशनों में बिजली का लोड भी बढ़ने लगा है। यहां आए दिन बिजली कटौती से नगरवासियों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि विद्युत वितरण कंपनी द्वारा शहर में बढ़ते बिजली लोड कम करने के लिए दो सब स्टेशन बनाने की स्वीकृति मुख्यालय भेजा गया था, लेकिन स्वीकृति मिलने के लगभग तीन माह बाद भी अब निर्माण कार्य शुरू नहीं हो सका। ऐसे में यहां लोग बिजली की आंख मिचोली से परेशान हैं।

    जिला मुख्यालय में बिजली उपभोक्ताओं की लाइन कटने या बंद होने की शिकायत सुनने वाला कोई नहीं है। मौसम के बदलते तेवर के चलते आए दिन आंधी तूपᆬान के चलते घंटों शहर में बिजली आपूर्ति बंद कर दी जाती है वहीं दूसरी ओर उमस भरी गर्मी के चलते आए दिन शहर के अधिकांश मोहल्लों में बिजली सुधार के नाम पर बिजली आपूर्ति बंद कर दी जाती है। जिला मुख्यालय में उपभोक्ताओं की संख्या लगभग 12 हजार है और यहां का तापमान बढ़ने से लोग उमस भरी गर्मी से परेशान हैं। इससे बचने वे अब भी एसी, कूलर व पंखों का सहारा ले रहे हैं। अन्य वर्षों की तुलना में इस वर्ष बिजली की खपत बढ़ गई है। विभागीय आंकड़ों के अनुसार शहर में वर्ष 2015 के मई माह में 130 एम्पीयर बिजली की खपत दर्ज की गई थी। जानकारी के अनुसार जिला मुख्यालय में पᆬरवरी माह से बिजली खपत बढ़ गई है। शहर में पᆬरवरी माह में 28 लाख यूनिट व मार्च माह में 34 लाख यूनिट खपत दर्ज की गई है। इसी तरह शहर में अप्रैल माह के अंतिम सप्ताह लगभग 40 लाख यूनिट बिजली खपत दर्ज की गई। बिजली की बढ़ी मांग के चलते अधिकांश नगरीय निकायों सहित ग्रामीण क्षेत्रों में लगे ट्रांसपᆬार्मरों में लोड बढ़ने के चलते जलकर खराब हो रहे हैं। लोड बढ़ने के चलते आए दिन बिजली आपूर्ति बाधित हो रही है। यहां कनेक्श की तुलना में मात्र दो सब स्टेशन होने के चलते ट्रांसपᆬार्मरों में लोड बढ़ने के चलते आए ट्रांसपᆬार्मर खराब हो रहे हैं। वहीं रोजाना आए दिन शहर के विभिन्न वार्डो में मेटेनेंस के नाम पर घण्टों बिजली आपूर्ति बंद कर दी जाती है। हालांकि शहर में बढ़ते उपभोक्ता व ज्यादा खपत के चलते बिजली मेंटेनेंस करने के लिए टीपीडीएस योजना के तहत वार्ड नंबर 9 में व सीटीएन योजना के तहत रानीपारा में सब स्टेशन निर्माण कराए जाने का प्रस्ताव मुख्यालय भेजा गया था। मुख्यालय से स्वीकृति मिलने के बाद भी अब तक सब स्टेशन निर्माण कार्य प्रारंभ नहीं हो सका। ऐसे में रोजाना बिजली की आंख मिचोली से नगरवासियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

    बिजली चोरी पर नहीं लग रहा अंकुश

    एक ओर जहां विद्युत उत्पादन कंपनी मांग के अनुसार बिजली उत्पादन नहीं कर पा रहा है, वहीं दूसरी ओर गर्मी के बढ़ने से खपत बढ़ी है। ऐसे में विद्युत वितरण कंपनी खपत के अनुसार बिजली आपूर्ति नहीं कर पा रहा है, वहीं जिले के शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में बेखौपᆬ बिजली चोरी उपभोक्ताओं द्वारा की जा रही है, बावजूद इसके वितरण विभाग एक-दो बिजली चोरों पर कार्रवाई कर खानापूर्ति कर रही है।

    ''शहर में टीपीडीएस व सीटीएन योजना के तहत दो सब स्टेशन का निर्माण कराने जाने की स्वीकृति मिली है। इसके लिए ठेकेदारों को वर्कआर्डर जारी किया जा चुका है। शीघ्र ही निर्माण कार्य प्रांरभ किया जाएगा।

    पीएल सिदार

    एसई, विद्युत वितरण कंपनी

    ----------------------------------------------------

    और जानें :  # nahi mila
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें