Naidunia
    Monday, December 11, 2017
    PreviousNext

    नक्सलियों ने ग्रामीणों को सुनाया फरमान- सरकारी मकान में रहे तो खैर नहीं

    Published: Sun, 19 Mar 2017 11:40 PM (IST) | Updated: Tue, 21 Mar 2017 09:28 AM (IST)
    By: Editorial Team
    government house narayanpur 2017321 92757 19 03 2017

    नारायणपुर। नक्सल विरोधी अभियान के बीच नक्सली अपने खोते जनाधार को वापस कायम करने के लिए अबूझमाड़ में पूरी तैयारी के साथ जुट गए हैं। ग्रामीणों को सरकारी योजनाओं से दूर कर उन्हे सरकार के करीब आने से रोक रहे हैं। हाल ही के दिनों में अबूझमाड़ के लाल गलियारे में नक्सलियों ने नया कानून बनाया है जिसमें पैगाम जारी कर कहा गया है कि जो भी ग्रामीण प्रधानमंत्री और इंदिरा आवास योजना के तहत सरकारी मकान में रहेगा उसे अपना गांव छोड़कर जाना होगा।

    अबूझमाड़ के जंगल से जो बात निकल कर आ रही है उसमें नक्सलियों ने लोगों को नसीहत देते दो टूक कहा है कि जो भी परिवार सरकारी आवास में रहेगा उसकी खैर नहीं होगी । विश्वसनीय सूत्र की माने तो नक्सलियों ने पंचायत के सरपंच और सचिव की बैठक लेकर उन्हें खूब फटकार लगाई है। पंचायत प्रतिनिधियों को प्रधानमंत्री आवास योजना से दूर रहने की बात कहते कहा गया है कि जो भी पंचायत का सचिव ग्रामीणों को बैंक में खाता खुलवाने के लिए नारायणपुर लेकर जाएगा उसे जनताना सरकार के जन अदालत में सजा दिया जाएगा।

    सूत्र की माने तो नक्सलियों ने पदमकोट, निलागुर, कुतेल, धुरबेड़ा, परपा, कच्चपाल, गोमागाल, टाहकावाड़ा, थुलथुली, नैडनार, कोंगे समेत अन्य गांव के लोगों को फरमान सुनाया है। वहीं दूसरी ओर जिला प्रशासन ग्रामीणों को आवास उपलब्ध कराने के लिए जियोटेक सर्वे का काम पूरा कर ग्रामीणों का खाता खुलवाने के लिए पिछले कई दिनों से प्रयास कर रही है। नक्सली बंदिश के बाद कई गांव के ग्रामीण खाता खुलवाने के लिए जिला मुख्यालय नहीं आ रहे हैं।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें