Naidunia
    Wednesday, November 22, 2017
    PreviousNext

    पतंजलि का शहद और संपूर्णा आटा का सैंपल जांच में फेल

    Published: Tue, 21 Mar 2017 03:53 AM (IST) | Updated: Wed, 22 Mar 2017 10:53 AM (IST)
    By: Editorial Team
    patanjali honey sample fail 2017321 85139 21 03 2017

    रायपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। घटिया खान-पान सामग्री से जनता के स्वास्थ्य से खिलवाड़ जारी है। ऐसे ही एक केस में पंडरी सिटी सेंटर मॉल से जब्त पतंजलि और संपूर्णा ब्रांड के खाद्य पदार्थ के सैंपल जांच में फेल निकले हैं। इससे पहले वालमार्ट (बिग प्राइस) समेत कई नामी-गिरामी ब्रांड्स के उत्पाद अमानक, मिलावटी, मिसब्रांड साबित होते रहे हैं।

    खाद्य एवं औषधि प्रशासन के सहायक आयुक्त डॉ. अश्वनी देवांगन ने खुलासा किया कि 2 मार्च को सिटी सेंटर मॉल के बिग बाजार और पंतजलि शॉप से लिए गए सैंपल जांच में गड़बड़ मिले हैं। संपूर्णा आटा 'अनसेफ' है, यानी यह सेहत के लिए हानिकारक है। जांच रिपोर्ट के मुताबिक आटे में कीड़े (इंसेक्ट व लार्वा) और जाले पाए गए। वहीं चॉकलेट चिप केक भी खाने योग्य नहीं मिले। केक और चॉकलेट पर माइक्रोबेस की सफेद परत मिली।

    पतंजलि प्योर हनी का भी सैंपल जांच में फेल हो गया। इस पर लिखे 'प्योर' शब्द को मिसलीड व मिसब्रांड (भ्रामक जानकारी) देने वाला घोषित किया गया। यहां से संपूर्णा आटा के 5 किलो व 10 किलो के 70 पैकेट जब्त किए थे। पतंजलि के मिस्सी आटे, शहद व ऐपल जूस के सैंपल भी लैब में भेजे गए थे। पतंजलि प्योर हनी की 250 ग्राम की 105 बोतल सीज की गई थी।

    व्यापारी भेजे जा सकते हैं जेल

    इस तरह के उत्पाद बेचने वाले रिटेलर से निर्माता तक सभी को पार्टी बनाकर केस दर्ज करेंगे। फूड एंड सेफ्टी स्टैंडर्ड एक्ट रूल एंड रेग्युलेशन के प्रावधानों में कार्रवाई की जाएगी। असुरक्षित और भ्रामक जानकारी देने वाले उत्पादों के मामले मेंजुर्माने के साथ जेल व सिर्फ जुर्माने का प्रावधान है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें