Naidunia
    Saturday, July 22, 2017
    PreviousNext

    100 फीट ऊंचाई से गिरा क्रेन ऑपरेटर, मौत

    Published: Wed, 23 Sep 2015 05:16 PM (IST) | Updated: Wed, 23 Sep 2015 05:16 PM (IST)
    By: Editorial Team
    17death22 23 09 2015

    0 बगैर सुरक्षा संसाधन के ही काम कर रहा था

    0 हादसों से प्रबंधन नहीं ले रहा सबक

    रायगढ़ (निप्र)। लगभग सौ फीट की ऊंचाई पर काम कर रहा क्रेन ऑपरेटर अनियंत्रित होकर गिर गया। इससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई। मामले में कंपनी प्रबंधन ने मृतक के परिजन को नियमानुसार मुआवजा देने की बात कही है।

    उद्योगों में सुरक्षा उपायों की अनदेखी मजदूरों की जान पर भारी पड़ रही है। आए दिन हो रहे हादसों में श्रमिकों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ रहा है। नहरपाली स्थित मोनेट इस्पात इन दिनों सुर्खियों में इसी बात को लेकर है कि प्रबंधन अपने श्रमिकों के प्रति गैर जिम्मेदाराना कार्यशैली अपनाती है। अभी पखवाड़े भर पहले ही खतरनाक गैस कार्बन मोनो ऑक्साईट के संपर्क में आकर एक मजदूर की मौत हुई थी। इसी कड़ी में एक बार फिर कंपनी में एक मजदूर की मौत हो गई। क्रेन ऑपरेटर बगैर सुरक्षा संसाधन का सौ फीट की ऊंचाई पर काम कर रहा था। अचानक उसका संतुलन बिगड़ा और वहां से गिरकर मौत का शिकार हो गया। हाल में ही श्रमिक की मौत का यह तीसरा मामला है। मिली जानकारी के अनुसार सारंगढ़ थानांतर्गत जशपुर कछार निवासी उज्जन चंद्रा 34 वर्ष मोनेट के अधीन कार्यरत मार्स इंडस्ट्रियल सर्विस में क्रेन ऑपरेटर था। बताया जाता है कि मंगलवार को तकरीबन ढाई बजे कंपनी के एसएमएस प्लांट में क्रेन चला रहा था। उसे किसी कार्यवश क्रेन के ऊपर तकरीबन 100 फीट ऊपर जाना पड़ा और वह बगैर किसी सुरक्षा उपकरण के ऊपर जा पहुंचा। यहां काम करने के दरमियान उसका पैर फिसला और वह सीधे जमीन पर आ गिरा। इससे उसे सिर में चोट आई और उसने मौके पर ही दम तोड़ दिया। मजदूर की मौत की खबर से कंपनी में कार्यरत अधिकारी-कर्मचारी में सनसनी फैल गई। कुछ मजदूरों ने प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा शुरू कर दिया, लेकिन कंपनी प्रबंधन की सख्ती के आगे उनका विरोध शांत हो गया। गौरतलब है कि मोनेट में एक माह के भीतर तीन बड़े हादसे हो चुके हैं। शुरूआत सुरक्षाकर्मी के आत्मदाह के प्रयास से हुई थी। इस भयावह दुर्घटना के चंद रोज बाद ही जहरीले गैस के संपर्क में आकर एक मजदूर की मौत हो गई । वहीं एक बार फिर से एक मजदूर की मौत होने का मामला सामने आया है। इस तरह लगातार होने वाले घटना से भी मोनेट प्रबंधन सबक नहीं ले रहा है।

    सबक नहीं ले रहा प्रबंधन

    लगातार हादसों के बाद भी कंपनी प्रबंधन सबक नहीं ले रहा है। दूसरी ओर प्रबंधन अपनी गलती स्वीकारने को तैयार नहीं है और मजदूरों की मौत के बाद प्रबंधन मुआवजा देकर मामले से जरूर पल्ला झाड़ लेती है। इस संबंध में प्रबंधन की ओर से नाम न छापने की शर्त पर बताया गया कि मृतक के परिजन को नियमानुसार मुआवजा दिया जाएगा।

    प्रबंधन की सूचना पर पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है। कंपनी प्रबंधन ने मृतक के परिजनों को नियमानुसार मुआवजा देने का आश्वासन दिया है।

    जी कत्लम, टीआई भूपदेवपुर

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी