Naidunia
    Tuesday, March 28, 2017
    PreviousNext

    देश में पहली बार सेटेलाइट से वन भैंसों की निगरानी

    Published: Mon, 20 Mar 2017 08:47 PM (IST) | Updated: Tue, 21 Mar 2017 08:36 AM (IST)
    By: Editorial Team
    radio collar forest buffalo 2017321 83554 20 03 2017

    प्रशांत गुप्ता/दिपेंद्र सोनी, रायपुर। छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले के उदंती सीतानदी टाइगर रिजर्व में दुर्लभ वन्यप्राणी राज्यकीय वन भैंसा को बचाने और इनकी संख्या बढ़ाने की हाड़तोड़ कवायद जारी है। इसके लिए अफ्रीका के एक्सपर्ट की मदद से 2 वन भैंसे को रेडियो कालर लगाए गए हैं। इनकी सेटेलाइट से निगरानी शुरू हो चुकी है। ये देश में पहला प्रयोग है। तो वहीं बाघ की मौजूदगी के प्रमाण हासिल करने, वास्तविक संख्या का पता लगाने के लिए 300 कैमरे लगाये जा रहे हैं।

    'नईदुनिया' टीम सोमवार को पहाड़ के शीर्ष पर बसे गांव ओड़ पहुंची। 26 किमी का सफर तय करने में 2 घंटे लग गए। सड़क का निशान तक नहीं है और ये नक्सल प्रभावित क्षेत्र है। यहां बाइक चलाना भी बेहद मुश्किल है। इतनी विषम परिस्थितियों में नोवा नेचर वेलफेयर की टीम कैमरा ट्रैपिंग कर रही है।

    मूवमेंट पर रखी जाएगी नजर

    दो वन भैंसों को रेडियो कालर लगाए गए हैं, ये भारत में पहली बार है। इनके मूवमेंट पर सेटेलाइट के जरिए नजर रखी जाएगी। डॉ. आरपी मिश्रा, रीजनल हेड, वाइल्ड लाइफ ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी