Naidunia
    Tuesday, October 24, 2017
    PreviousNext

    नए चीफ जस्टिस राधाकृष्णन ने ली शपथ, कहा-लव इच अदर, बी हैप्पी

    Published: Sat, 18 Mar 2017 08:29 PM (IST) | Updated: Sat, 18 Mar 2017 08:32 PM (IST)
    By: Editorial Team
    cgcj 18 03 2017

    रायपुर। न्यायाधिपति थोट्टाथील भास्करन नायर राधाकृष्णन ने शनिवार को बिलासपुर हाईकोर्ट के नए मुख्य न्यायाधीश के पद की शपथ ली। यहां राजभवन के दरबार हाल में आयोजित समारोह में राज्यपाल बलरामजी दास टंडन ने उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। जस्टिस राधाकृष्णन ने ईश्वर के नाम की शपथ ली।


    उन्होंने कहा कि लव इच अदर, बी हैप्पी" (एक-दूसरे से प्रेम करो,खुश रहो)। प्रदेश की जनता बेहद प्यारी है। यह सुंदर प्रदेश है। सन 2000 में बना युवा राज्य है। यहां काम करने का बेहद अनुकूल वातावरण है। उम्मीद है कि अच्छा काम करने का मौका मिलेगा। मैं बेहतर तरीके से काम करूंगा। नया राज्य है अपेक्षाएं भी बहुत हैं। मैं यहां आकर गर्व महसूस कर रहा हूं।

    वहीं मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि जस्टिस राधाकृष्णन के नेतृत्व में ज्यूडिशयरी को नई दिशा मिलेगी। उन्हें लंबा अनुभव है। राज्य के गरीब से गरीब व्यक्ति को भी न्याय मिलेगा। कार्यक्रम का संचालन मुख्य सचिव विवेक ढांड ने किया।

    छत्तीसगढ़ में आने वाला कल ज्यूडिशियरी के लिहाज से और बेहतर होगा। कार्यक्रम में श्रीमती बृजपाल टंडन, श्रीमती वीणा सिंह, विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल, उच्च शिक्षा मंत्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय, पंचायत मंत्री अजय चन्द्राकर, गृहमंत्री रामसेवक पैकरा, खाद्य मंत्री पुन्नूलाल मोहले, महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती रमशीला साहू, पर्यटन मंत्री दयालदास बघेल, वन मंत्री महेश गागड़ा, विभिन्न् निगम मंडल के अध्यक्ष सहित राज्य के सभी आला अफसर मौजूद थे।

    बिलासपुर हाईकोर्ट के 11वें मुख्य न्यायाधीश

    राधाकृष्णन बिलासपुर हाईकोर्ट के 11वें मुख्य न्यायाधीश हैं। पूर्व मुख्य न्यायाधीश दीपक गुप्ता को सुप्रीम कोर्ट का जज बनाए जाने की वजह से यह पद खाली हुआ था। जस्टिस राधाकृष्णन केरल के कोल्लम जिले के रहने वाले हैं। 1983 में तिरुवनंतपुरम से वकालत की शुरुआत की। केरल हाईकोर्ट में कुछ साल वकालत की। उन्हें सिविल, संविधान और प्रशासनिक कानून का एक्सपर्ट माना जाता है। राधाकृष्णन 2004 में केरल हाईकोर्ट में स्थाई न्यायधीश बने और तब से वहीं पदस्थ थे।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें