Naidunia
    Sunday, September 24, 2017
    PreviousNext

    घेरे में आए अफसरों के कारनामों पर एसीबी अफसर हैरान

    Published: Fri, 17 Feb 2017 08:45 PM (IST) | Updated: Fri, 17 Feb 2017 09:24 PM (IST)
    By: Editorial Team
    demo 2017217 212452 17 02 2017

    रायपुर। निप्र। छत्तीसगढ़ के सरकारी विभागों के आला अफसरों के काली कमाई के कारनामे देखकर एसीबी भी हैरान है। समाज कल्याण विभाग के अतिरिक्त संचालक एमएल पांडे ने एनजीओ के जरिए काला धन विदेश में सफेद किया। बीते दो सालों में सबसे ज्यादा रकम विदेश भेजकर बदलवाई। प्रवर्तन निदेशालय से इसकी जांच कराई जाएगी। उधर कृषि विभाग के संयुक्त संचालक सालिकराम वर्मा ने उरला में पहले एक फैक्टरी शुरू की। 5 साल में 3 बड़े प्लास्टिक कारखाने खोल लिए। यहां बने सेनेटरी आइटम एजेंटों के मार्फत सरकारी विभागों में खपाए। उरला में वर्मा ने रियल स्टेट में निवेश कर रखा है।

    गुरुवार को प्रदेशभर में 9 अफसरों के 15 ठिकानों में छापेमारी के दूसरे दिन एसीबी एसपी रजनेश सिंह ने बताया कि एसबीआई, यूनियन बैंक, सेंट्रल बैंक, आईडीबीआई बैंक से इनके खातों की जानकारी मांगी गई है। अनुमान है कि बैंक लॉकरों में अफसरों ने भारी भरकम जेवर रखे हैं। शुक्रवार को एसीबी अफसरों ने दस्तावेजी जांच पूरी कर आरोपियों का बयान लिया। सबसे मालदार एमएल पांडे के 28 बैंक खातों में जमा एक करोड़ रुपए की जब्ती बाकी है। उसके घर जांच में और दस्तावेज जुटाए गए। एसीबी और ईओडब्ल्यू के एडीजी मुकेश गुप्ता ने बताया कि दागी अफसरों ने परिवार के सदस्यों और रिश्तेदारों के नाम पर करोड़ों रुपए जमीन में निवेश किया है। इसकी जांच की जा रही है। जो भी संलिप्त पाया जाएगा, उसको भी जांच के दायर में लिया जाएगा।

    विदेशी मुद्रा का हिसाब ईडी को

    एसीबी, एमएल पांडे के यहां मिली विदेशी मुद्रा के बारे में रिपोर्ट प्रवर्तन निदेशालय को देगी। उसके पास सिंगापुर, मलेशिया, चाइना, यूएस व मारीशस की 6 लाख 31 हजार रुपए की विदेशी मुद्रा मिली है, जिसकी जांच होगी। एसीबी की जांच में सामने आया कि लगातार विदेश घूमने के बाद जिन देशों की मुद्राएं बच जाती थी, उसे पांडेय एकत्र करके रखते थे। एसीबी के अधिकारियों ने बताया कि दुर्ग में डीपीएस को अपनी बिल्डिंग किराए पर देकर हर महीने 60 हजार की वसूली करता था। इसकी जानकारी सरकारी दस्तावेज में भी नहीं दी है।

    एसीबी छापे में तंबोली के पास मिला आधा किलो सोना

    एसीबी के आला अफसरों ने बताया कि सहायक खाद्य अधिकारी बिलासपुर एके तंबोली के लॉकर से शुक्रवार को आधा किलो सोना और अन्य जेवरात मिले। कीमत एक करोड़ रुपए आंकी गई है। तंबोली की जमीन व दस्तावेजों की जांच के लिए एसीबी टीम कवर्धा गई है। तंबोली ने बैंक में 14 लाख रुपए की एफडी भी कराई थी।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें