Naidunia
    Saturday, September 23, 2017
    PreviousNext

    जनधन खातों पर सख्ती शुरू, 39 लाख खातों में थे जीरो बैलेंस

    Published: Fri, 25 Nov 2016 07:49 AM (IST) | Updated: Fri, 25 Nov 2016 07:20 PM (IST)
    By: Editorial Team
    jan dhan khata 20161125 151939 25 11 2016

    रायपुर। विमुद्रीकरण को देखते हुए छत्तीसगढ़ के सभी जिलों में प्रधानमंत्री जन-धन खातों को लेकर सख्ती शुरू कर दी है। जनधन खातों में मनमाने तरीके से पैसा जमा होने की सूचना मिलने के बाद राज्य शासन ने सुचारु संचालन के लिए बैंक मित्र सक्रिय करने का निर्देश दिया है। जिन इलाकों में बैंक मित्र निष्क्रिय हैं अथवा जहां बैंक मित्र नहीं हैं, वहां समीक्षा कर नए सिरे से उनकी नियुक्ति करने का निर्देश दिया गया है।

    19 अक्टूबर तक छत्तीसगढ़ के 27 जिलों में एक करोड़ 17 लाख 35 हजार 531 जन-धन खाते खुल चुके हैं। इनमें से 39 लाख 80 हजार 619 खाते जीरो बैलेस के हैं। नोटबंदी के बाद जीरो बैलेंस वाले खातों में जमा हुए 50 हजार से ज्यादा रुपए का खाताधारकों को सोर्स बताना होगा।

    मुख्य सचिव विवेक ढांड ने गुरुवार को संभागीय कमिश्नरों और कलेक्टरों सहित राज्य बैंकों के प्रमुख अधिकारियों तथा राज्य स्तरीय बैकर्स समिति के समन्वयक को परिपत्र जारी किया है। उन्होंने प्रधानमंत्री जन-धन योजना के खाताधारकों की आधार सीडिंग, मोबाईल सीडिंग तथा रूपेकार्ड वितरण और एक्टिवेशन का काम समय-सीमा में पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं।

    बताया जा रहा है कि जनधान के 77 लाख 54 हजार 952 सक्रिय खाते हैं और 77 लाख 64 हजार 943 खाते धारकों को रूपेकार्ड जारी किए जा चुके हैं। 59 लाख 56 हजार 977 खाते धारकों की आधार सीडिंग का कार्य भी कर लिया गया है।

    मुख्य सचिव ने अधिकारियों को अलग-अलग प्रारूप भेजकर आधार सीडिंग, मोबाईल सीडिंग तथा रूपेकार्ड वितरण की जानकारी तैयार करने के और 28 नवम्बर तक प्रथम रिपोर्ट तथा उसके बाद प्रत्येक सोमवार को साप्ताहिक प्रगति रिपोर्ट का भी निर्देश दिए हैं। यह रिपोर्ट ई-मेल के जरिए संस्थागत वित्त संचालनालय को भेजी जाएगी।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें