Naidunia
    Sunday, November 19, 2017
    PreviousNext

    टेस्टिंग में ही कई जगह लीकेज, मरम्मत में माथापच्ची

    Published: Sat, 20 May 2017 12:28 AM (IST) | Updated: Sat, 20 May 2017 12:28 AM (IST)
    By: Editorial Team

    राजनांदगांव। शहर में नई सिटी के रूप में विकसित हो रहे पेंड्री में पीएचई ने 13 लाख लीटर क्षमता वाली पानी टंकी की टेस्टिंग शुरू कर दी है, लेकिन दिक्कत यह है कि टेस्टिंग में ही कई जगह बार-बार हो रही लीकेज ने पीएचई की परेशानी बढ़ा दी है। पिछले चार-पांच दिन से टंकी व पाइप लाइन की टेस्टिंग शुरू की गई है। इस दौरान पाइप लाइन कई जगह से फूटने की शिकायत मिल रही है, जिसे सुधारने में ही पीएचई कर्मी व्यस्त हैं। रोज-रोज लीकेज होने से कर्मचारियों की परेशानी भी बढ़ गई है। अफसरों ने बताया कि दो महीने की टेस्टिंग के बाद टंकी नगर निगम को हैंडओवर किया जाएगा।

    फिर नहीं होगी किल्लत

    पेंड्री में 13 लाख लीटर क्षमता वाली पानी टंकी का निर्माण किया गया है। यहां से पेयजल सप्लाई शुरू होने के बाद पेंड्री सहित रेवाडीह, मेडिकल कालेज, आरटीआई व हाउसिंग बोर्ड कालोनी सहित आसपास के इलाकों में कहीं भी पेयजल की किल्लत नहीं होगी। वर्तमान में सभी जगहों पर जलापूर्ति को लेकर लोगों को हर रोज परेशान होना पड़ रहा है। टंकी से सप्लाई शुरू होते ही लोगों को काफी राहत मिलेगी।

    पीएचई कर्मी हर दिन परेशान

    टंकी का निर्माण पूरा होने के बाद पीएचई ने इसकी टेस्टिंग शुरू कर दी है। लगभग चार-पांच दिन से टंकी की टेस्टिंग कर क्षेत्र में पानी सप्लाई किया जा रहा है, लेकिन विडंबना यह है कि हर दिन कोई न कोई जगह पाइप लाइन में लीकेज होने की शिकायत सामने आ रही है। इसको लेकर पीएचई कर्मचारियों की मुश्किलें बढ़ गई है। रोज कर्मचारी लीकेज सुधारने में परेशान हो रहे हैं।

    टेस्टिंग के बाद होगा हैंडओवर

    पीएचई के अफसरों ने बताया कि पेंड्री पानी टंकी व पाइप लाइन की टेस्टिंग शुरू कर दी गई है। मेडिकल कालेज व आरटीआई सहित हाउसिंग बोर्ड कालोनी व वार्डों में सप्लाई भी जा रही है, लेकिन टेस्टिंग के दौरान कई जगहों पर लीकेज की शिकायत है। जिसमें सुधार कर रहे हैं। अफसरों ने बताया कि दो से तीन महीने तक टेस्टिंग होगी, जिसके बाद टंकी नगर निगम का हैंडओवर किया जाएगा।

    शिकायत आ रही है

    'पाइप लाइन व टंकी की टेस्टिंग चालू है। कुछ-कुछ जगहों पर पाइप लाइन फूटने या फिर लीकेज होने की शिकायत आ रही है। जिसमें सुधार करा रहे हैं। दो-तीन महीने की टेस्टिंग के बाद निगम को हैंडओवर करेंगे।'

    -एसएन पांडे, ईई, पीएचई

    और जानें :  # CG News # Rajnandgaon News
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें