Naidunia
    Friday, November 24, 2017
    PreviousNext

    चालकों-परिचालकों को अच्छे व्यवहार करना सिखाएगी पुलिस

    Published: Wed, 13 Sep 2017 11:34 PM (IST) | Updated: Wed, 13 Sep 2017 11:34 PM (IST)
    By: Editorial Team

    राजनांदगांव। हरियाणा के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में कक्षा दूसरी के छात्र प्रद्युमन ठाकुर की हत्या से जिला पुलिस ने भी सबक लेने का फैसला किया है। वारदात को स्कूल बस के परिचालक ने अंजाम दिया है। यहां ऐसी घटना न हो, इसके लिए पुलिस सजगत और सतर्कता के तौर पर निजी स्कूलों के बस चालकों व परिचालकों को अच्छे व्यवहार करने की सीख देगी। शुक्रवार को बसंतपुर स्थित बल्देवप्रसाद मिश्र स्कूल में इसके लिए कैंप लगाया जाएगा।

    पिछले हफ्ते गुरुग्राम में जघन्य हत्या हुई थी। सुरक्षा में चूक और लापरवाही को लेकर स्कूल स्टाफ और प्रबंधन भी कार्रवाई के दायरे में आ गए हैं। चुंकि मुख्य आरोपी के रूप में कंडक्टर का नाम सामने आया है। ऐसे में पुलिस ने पहले चालक-परिचालक को अच्छे व्यवहार करने की सीख दी जाएगी। इसे लेकर बुधवार को पुलिस अधीक्षक कार्यालय में सभी स्कूल, कालेज के संस्था प्रमुखों की मीटिंग ली गई। एएसपी राजेश अग्रवाल ने सभी संस्था प्रमुखों को बताया कि स्कूलो में बच्चों की सुरक्षा को लेकर सभी को गंभीर होने की आवश्यक्ता है। इस पर सभी ने सहमति प्रकट की और कहा कि बच्चों की सुरक्षा ही उनकी पहली प्राथमिकता होगी। संस्था प्रमुखों से कहा गया कि सभी कर्मचारियों का वेरिफिकेशन कराएं एवं उन्हे बच्चों के साथ गुड बिहेवियर करने की समझाइश भी दें।

    आज दिया जाएगा प्रशिक्षण

    पुलिस द्वारा 15 सितंबर को बल्देव प्रसाद स्कूल में प्रशिक्षण कैम्प लगाया जाकर बस चालक, कंडक्टर एवं स्कूल के कर्मचारियों को गुड बिहेवियर का प्रशिक्षण दिया जाएगा। साथ ही वेरिफिकेशन भी किया जाएगा। एएसपी अग्रवाल ने स्कूल परिसर में सीसीटीव्ही कैमरा लगाने, शिकायत पेटी रखने और आपातकालिन व हेल्प लाईन नम्बर को नोटिस बोर्ड पर चस्पा करने की बात कही।

    महिला कंडक्टर भी करें नियुक्त

    आईयूसीएडब्ल्यू संभाल रहीं एएसपी प्रज्ञा मेश्राम ने सभी संस्था प्रमुखों को बताया कि वे अपने संस्था के बच्चों को गुड टच एवं बैड टच के बारे में समझाएं। साथ ही स्कूल संस्था की बस में पुरूष कंडक्टर के साथ एक महिला कंडक्टर की नियुक्ति करें। स्कूल के वाहनों में अग्नि शमन यंत्रों को लगायें। बच्चो की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए कर्मचारियों एवं स्कूली बच्चों के शौचालय अलग-अलग होना चाहिए। बाहरी स्टाफ, बस चालक, कंडक्टर एवं अन्य लोगों को स्कूल परिसर में अनावश्यक प्रवेश प्रतिबंधित करें। मीटिंग में 100 से अधिक संस्था प्रमुखो की उपस्थिति रही। इसमें ट्रैफिक डीएसपी एमएस चंद्रा, लालबाग थाना प्रभारी सनत सोनवानी, कोतवाली टीआई मो.याकूब मेमन, बसंतपुर टीआई विनोद मंडावी भी मौजूद थे।

    -

    और जानें :  # CG News # Rajnandgaon News
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें