Naidunia
    Monday, August 21, 2017
    PreviousNext

    सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लोरमी की स्टॉफ नर्स निलंबित

    Published: Tue, 20 Jun 2017 11:49 PM (IST) | Updated: Tue, 20 Jun 2017 11:49 PM (IST)
    By: Editorial Team

    लोरमी। नईदुनिया न्यूज

    सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लोरमी में डॉक्टर व स्टॉफ की लापरवाही से प्रसूता और दो जुड़वा नवजात बच्चे की मौत के मामले में स्वास्थ्य विभाग की संयुक्त संचालक ने एक स्टॉफ नर्स को निलबिंत कर दिया। वहीं दो दिन में पूरे मामले की जांच कर दोषी डॉक्टर व अन्य स्टॉप नर्स के खिलाफ कार्यवाही करने की बात कही है। मामले में डड़सेना कलार समाज युवा मंच द्वारा एसडीएम को कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौंपकर घटना की उच्च स्तरीय जांच की मांग की गई।

    उल्लेखनीय है कि ग्राम डोंगरिया निवासी सविता जायसवाल पति अनिल जायसवाल (27) को 17 जून की रात 10 बजे प्रसव पीड़ा होने पर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लोरमी में भर्ती कराया गया था। सुबह प्रसूता की स्थिति बिगड़ने पर सिम्स रिफर कर दिया गया जहां सिम्स पहुंचते ही महिला सहित उसके गर्भ में पल रहे दो बच्चे की मौत हो गई। इस संबंध में परिजनों का आरोप है कि रात भर प्रसूता दर्द से तड़पती रही लेकिन कोई भी जिम्मेदार चिकित्सक इलाज के लिए नहीं पहुंचे। वहीं स्टॉफ नर्स द्वारा परिजनों से दुर्व्यव्हार किया गया। इसके अलावा 19 जून की रात को ग्राम चकला की एक और महिला को प्रसव पीड़ा होने पर भर्ती किया गया। जहां तड़के सुबह प्रसव उपरांत नवजात की मौत हो गई। इस बड़ी घटना के बाद मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग की संयुक्त संचालक मधुलिका सिंह सीएमएचओ डॉ.एसआर घृतलहरे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे। इस बीच कलार समाज के युवा व सर्वदलीय मंच के नेता राकेश छाबड़ा, अशोक शर्मा पी़डित परिवार के पक्ष में उचित कार्यवाही की मांग की गई। संयुक्त संचालक सिंह ने बीएमओ डॉ.जीएस दाउ, अधीक्षक डॉ.रूपेश साहू और अन्य डॉक्टर व स्टॉप नर्स से पूछताछ की और सर्वप्रथम स्टॉफ नर्स कविता गुप्ता को दोषी पाए जाने पर तत्काल निलबिंत कर दिया। वहीं अधीक्षक नियुक्ति पर सवाल करते हुए तत्काल हटाने निर्देशित किया। उन्होंने परिजनों से घटना के संबध में माफी भी मांगी और परिजनों व शिकायतकर्ताओं को आश्वस्त किया कि दो दिन में घटना की जांच होने के बाद जो भी दोषी होगें उनके खिलाफ कार्यवाही करेंगे। इसके अलावा उन्होंने पीड़ित परिवार को मुआवजा दिलाने संभागायुक्त से बात करने की बात कही।

    सीएमएचओ कार्यालय का घेराव कल

    स्वास्थ्य केंद्र में विभागीय लापरवाही से प्रसूता और तीन नवजात बच्चों के मौत के मामले में ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सागर सिंह, थानूराम बघेल, भागवत साहू, शिमांशु दुबे, देवी जायसवाल आदि ने एसडीएम लोरमी को ज्ञापन सौंपा जिसमें घटना की उच्च स्तरीय जांच टीम गठित करने और दोषी डॉक्टर के खिलाफ कार्यवाही की मांग को लेकर 22 जून को सीएमएचओ आफिस का घेराव करने की बात कही। श्री सिंह कहा कि घटना को दबाने व पर्दा डालने के लिए स्टॉफ नर्स को निलबिंत किया गया था जो कि उस दिन ड्यूटी में उपस्थित थी, उन्हे पुनः बहाल किया जाए और दोषी डॉक्टर पर कार्यवाही की जाए।

    युवा मंच ने सौंपा ज्ञापन

    ग्राम डोंगरिया के पी़डित परिवार को न्याय दिलाने दोषी डॉक्टर व स्टॉफ पर कार्यवाही की मांग व मुआवजा राशि दिलाने की मांग को लेकर डड़सेना कलार युवा मंच द्वारा मंगलवार को सुबह ही एसडीएम को ज्ञापन सौंपा गया जिसमें मृतका के पति अनिल जायसवाल के अलावा एल्डरमैन शैलेंद्र जायसवाल, आशीष डड़सेना, सोहन डड़सेना, शरद डड़सेना, आशीष जायसवाल प्रमोद जायसवाल, निक्कू जायसवाल, देवी जायसवाल, मुकेश जायसवाल सहित अन्य शामिल रहे। इस दौरान प्रदेश महिला इंटक की अध्यक्ष मायारानी सिंह ने घटना को लेकर स्वास्थ्य विभाग के क्रियाकलाप पर सवाल उठाते हुए कड़ी कार्यवाही की मांग की है।

    हटाए गए अधीक्षक

    सीएचसी अधीक्षक डॉ.रूपेश साहू को संयुक्त संचालक के निर्देश पर हटा दिया गया। उनकी जगह डॉ.जितेंद्र पैकरा को अधीक्षक बनाया गया है। गौरतलब है कि डॉ.साहू की लगातार शिकायतें मिल रही थी, उनके ऊपर पूर्व में लापरवाही और दुर्व्यव्हार करने का आरोप है।

    स्वास्थ्य विभाग द्वारा लगातार लापरवाही की जा रही है। चाहे वह चेचानडीह का मामला हो या फिर अभी प्रसूता और बच्चे के मौत का मामला हो। दोषी डॉक्टरों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाए।

    - धर्मजीत सिंह, पूर्व विधायक

    शासन की योजना के बाद भी इस प्रकार की घटना लापरवाही है। मामले में कार्यवाही होनी चाहिए है।

    - वर्षा सिंह, जनपद अध्यक्ष

    जेडी के निर्देश पर स्टॉफ नर्स कविता गुप्ता को निलंबित किया गया है और संतोषी यादव स्टाफ नर्स की शिकायत को कार्यवाही के लिए जिला भेजा जा रहा है।

    डॉ.जीएस दाउ,बीएमओ, लोरमी

    और जानें :  # samudyaik sawastya kendra
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें