Naidunia
    Saturday, June 24, 2017
    PreviousNext

    एमएम फन सिटी में लीजिए मिनी स्लाइड और मल्टी स्टेशन का मजा

    Published: Sat, 20 May 2017 07:35 AM (IST) | Updated: Sat, 20 May 2017 07:35 AM (IST)
    By: Editorial Team

    0 बिजनेस प्लस

    रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

    बकतरा स्थित वाटर पार्क एमएम फन सिटी में परिवार के साथ मिनी स्लाइड और मल्टी स्टेशन का मजा ले सकते हैं। लगातार बढ़ती गर्मी से छुटकारा दिलाने के साथ फन सिटी आपको अपनेपन का भी अहसास दिलाता है। यहां पर प्रकृति के बीच पानी की धारा बहती रहती है। राइडरों के बीच पूरा परिवार लुत्फ उठा सकता है। संस्थान का कहना है कि यह छत्तीसगढ़ में सबसे बड़ा वाटर पार्क है। यहां पूरे परिवार के लिए वाटर फैमिली पुल है, जिसमें हर उम्र के लोग स्लाइड कर सकते हैं। जिस राइड के भी हिस्से होते है, उसकी मस्ती व किरदारों में डूब सकते हैं। संस्थान के अनुसार कुल मिलाकर यही कहा जा सकता है कि छोटे से छोटे व बड़े से बड़े लोग परिवार या दोस्तों के साथ मजा ले सकते हैं।

    00000000000

    फोटो- आज की तारीख में स्टील

    इज ऑफ डुइंग बिजनेस पर विशेषज्ञों ने दी सुविधाओं की जानकारी

    रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

    छत्तीसगढ़ री-रोलर्स एसोसिएशन के ऑफिस में पिछले दिनों इज ऑफ डुइंग बिजनेस पर कार्यशाला हुई। इसका आयोजन डायरेक्ट्रेट ऑफ इंडस्ट्रीज के सहयोग से किया गया। यहां दिल्ली से आए विशेषज्ञ सुलेमान ने शासन की तरफ से इस विषय पर दी जाने वाली सुविधाओं की जानकारी दी। साथ ही बताया कि इसका उपयोग कैसे करें। यह भी बताया गया सिंगल विंडो स्कीम के तहत क्या-क्या सुविधाएं हैं। इस कार्यशाला में छत्तीसगढ़ स्टील री-रोलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष जितेन्द्र रामपुरिया,उपाध्यक्ष संजय त्रिपाठी, डॉ. एसके शर्मा के साथ ही करीब 50 उद्योगपति शामिल हुए।

    00000000

    रोलिंग मिलों के लिए बिजली उपयोग की सीमा बढ़ाने की मांग

    रायपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

    छत्तीसगढ़ स्टील री-रोलर्स एसोसिएशन का कहना है कि रोलिंग मिलों के लिए बिजली उपयोग की सीमा 15 फीसदी से बढ़ाकर 30 फीसदी की जाए। एसोसिएशन ने इस संबंध में वाणिज्यिक कर मंत्री अमर अग्रवाल और विद्युत नियामक आयोग के सचिव पीएन सिंह से मुलाकात की। एसोसिएशन के उपाध्यक्ष एसके शर्मा ने बताया कि 175 रोलिंग मिलों में पिछले सालों 35-40 मिलें बंद हो गईं। इसका मुख्य कारण बिजली दरों में अनावश्यक बढ़ोतरी है। उन्होंने कहा कि किसी भी उद्योग के संचालन के लिए कच्चा माल, विद्युत लेजिस्टिक मुख्य घटक है। उन्होंने बताया कि एक अप्रैल से बिजली दरें 9 से 10 रुपए प्रति यूनिट पड़ रही है।

    19 पराग मिश्रा-04- संतोष

    9 बजकर 13 मिनट

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी