Naidunia
    Friday, May 26, 2017
    PreviousNext

    सौतेले बाप से बचने घर से भागी, युवकों ने बंधक बना धकेल दिया देह व्यापार में

    Published: Fri, 17 Feb 2017 07:39 AM (IST) | Updated: Fri, 17 Feb 2017 08:56 AM (IST)
    By: Editorial Team

    बिलासपुर। नईदुनिया न्यूज

    सौतेले बाप से बचने झारखंड के जमशेदपुर से भागकर बिलासपुर पहुंची किशोरी को युवकों ने अगवा कर लिया। फिर उसे व्यापार विहार में किसी परिचित महिला के घर बंधक बना लिया। महिला करीब 1 माह तक उससे देह व्यापार कराती रही। किशोरी उसके चंगुल से छूटकर स्टेशन पहुंची तो फिर से एक युवक उसे सूनसान जगह पर ले गया और दुष्कर्म की कोशिश करने लगा। इस बीच पुलिस पहुंच गई और युवक भाग निकला। किशोरी ने अधिकारियों को आपबीती सुनाई। मामले की रिपोर्ट तारबाहर थाने में दर्ज कराई गई है।

    तारबाहर पुलिस के अनुसार मूलतः झारखंड के जमशेदपुर इलाके की 14 वर्षीय किशोरी बीते 17 जनवरी को बिलासपुर स्टेशन के प्लेटफार्म में बैठी थी। दोपहर में एक युवक उसे खाना खिलाने के बहाने बाहर ले आया। फिर उसे ऑटो में बैठाकर पुराना बस स्टैंड ले गया। बाहर से आई किशोरी को कुछ मालूम नहीं था। लिहाजा, युवक उसे पुराना बस स्टैंड के पास से कार में बैठाकर व्यापार विहार स्थित आनंदा होटल के पास ले गया। यहां कोई रिया दीदी नाम की महिला के मकान में उसे बंधक बनाकर रखा गया। इस बीच अलग-अलग युवक आकर उसके साथ दुष्कर्म करते रहे। वहीं उससे खाना बनाने के साथ ही घर का काम भी कराया जाता रहा। किशोरी दरिंदों की प्रताड़ना सहती रही। इसके एवज में महिला रुपए भी वसूल करती थी। बीते 8 फरवरी को वह उनके चंगुल से भागकर स्टेशन पहुंची। अपने पास रखे रुपयों से उसने टाटानगर जाने के लिए टिकट लिया। वह प्लेटफार्म में ट्रेन आने का इंतजार कर रही थी। तभी दूसरा युवक आया और उसे खाना खिलाने के बहाने स्टेशन से बाहर ले गया। वह उसे बाइक में बैठाकर सिरगिट्टी क्षेत्र के जंगल में ले गया। तभी पुलिस की जीप वहां पहुंच गई। पुलिस को देखते ही युवक भाग निकला। पुलिस किशोरी को अपने साथ ले गई। फिर उसे बाल संप्रेक्षण गृह भेज दिया गया। वहां चाइल्ड वेलफेयर कमेटी के सदस्यों व अफसरों ने उसे भरोसे में लेकर पूछताछ की। तब उसने आपबीती सुनाई। किशोरी का बयान दर्ज करने के बाद गुरुवार को बाल संप्रेक्षण गृह के अधिकारी उसे लेकर तारबाहर थाना पहुंचे। पुलिस ने किशोरी के बयान के आधार पर धारा 370, 376 (छ), 34 व 4-6 पास्को एक्ट के तहत अपराध दर्ज कर लिया है। पुलिस इस मामले की जांच में जुट गई है और किशोरी के बयान के आधार पर संदेहियों की पतासाजी कर रही है।

    सिरगिट्टी पुलिस की भूमिका संदिग्ध, लेनदेन कर युवक को छोड़ने की आशंका

    इस गंभीर मामले में सिरिगिट्टी पुलिस की भूमिका पर भी सवाल उठ रहा है। पुलिस ने किशोरी को पकड़ लिया और बाल संप्रेक्षण गृह भेज दिया। लेकिन, आरोपी युवक की पतासाजी नहीं की। मौके पर आरोपी युवक अपना जैकेट व बाइक छोड़कर भाग निकला, जिसे पुलिसकर्मी जब्त कर अपने साथ ले गए। लेकिन, पुलिस ने आरोपी युवक के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। ऐसे में पुलिस व युवक की मिलीभगत होने की आशंका है।

    घर में भी थी प्रताड़ित

    किशोरी अपने घर से भी प्रताड़ित है। उसका पिता सौतेला है और उस पर बुरी नजर रखता था। अपने पिता की अश्लील हरकतों से वह तंग आ गई थी। परिजन भी मासूम से सौतेला व्यवहार करते थे। पांचवी तक पढ़ाई करने के बाद वह घर के काम में जुट गई थी। इसी प्रताड़ना से तंग आकर वह भागकर बिलासपुर स्टेशन पहुंच गई थी।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी