Naidunia
    Sunday, August 20, 2017

    ज्ञान गंगा : सोच के मुताबिक बनता है कर्म

    Wed, 04 Jan 2017 11:21 PM (IST)

    हमें ये समझना होगा कि कर्म उसी तरह से बनता है, जिस तरह आप उसे महसूस करते हैं।

    स्‍वीकृति के अनुरूप स्‍पर्श की अनुभूति - आचार्य सुदर्शन

    Wed, 07 Dec 2016 10:28 PM (IST)

    स्पर्श निर्भर करता है कि हमारी स्वीकृति कैसी है। स्पर्श को हम कैसे स्वीकार करना चाहते हैं।

    ज्ञान गंगा : भावना, संवेदना से मिलता है आनंद

    Tue, 22 Nov 2016 11:14 PM (IST)

    ये भाव-संवेदना ही है, जो मनुष्य को गहराई से जोड़कर उससे महान कार्य करवा लेती है।

    ज्ञान गंगा : मन को साध लें, सब सध जाएगा

    Tue, 15 Nov 2016 11:24 PM (IST)

    आपका मन आपके अहंकार का स्रोत है। वही तय करता है कि आप बाहर से भले कुछ हों, अंदर कैसे विचार रखेंगे!

    ज्ञान गंगा : आनंद में डूबें, आशंकाओं में नहीं

    Mon, 14 Nov 2016 10:49 PM (IST)

    मनुष्य के इर्द-गिर्द समस्याएं उतनी नहीं हैं, जितनी वह स्वयं ओढ़ लेता है।

    ज्ञान गंगा : जीत के लिए जरूरी है सही नीति

    Tue, 01 Nov 2016 10:43 PM (IST)

    चाणक्य ने सफलता के लिए कूटनीति के चार प्रमुख अस्त्र बताए हैं, जिनका उपयोग समय और परिस्थितियों को ध्यान में रखकर करना चाहिए।

    ज्ञान गंगा : सफलता के लिए सुबह को साधें - श्रीश्री रविशंकर

    Tue, 18 Oct 2016 10:59 PM (IST)

    यदि सफल होना है और जीवन के हर पल का आनंद लेना है तो सुबह जल्दी उठकर पुरी सुबह को अपने कब्जे में कर लें।

    ज्ञान गंगा : स्वयं को जानना ही सबसे बड़ा ज्ञान

    Tue, 04 Oct 2016 11:14 PM (IST)

    हम बाहरी अनेक बातों को जानते हैं या जानने का प्रयत्न करते हैं, मगर यह भूल जाते हैं कि हम स्वयं क्या हैं?

    ज्ञान गंगा : हिंसक वृत्तियों से दूर होने की कला

    Mon, 03 Oct 2016 11:18 PM (IST)

    यदि हम उपद्रवों को मिटाना चाहते हैं तो इसका उपाय यही है कि इन्हें 'क्रिएटिव" बना दिया जाए।

    ज्ञान गंगा : श्रेष्ठ में लगाएं अपनी सारी क्षमता - श्रीश्री रविशंकर

    Wed, 28 Sep 2016 10:42 PM (IST)

    जिन्हें मनुष्य की विशिष्टताएं कहा जाता है, सिद्धियां-विभूतियां कहा जाता है। ये सब उस प्रभु की दी हुई अमानतें हैं।

    अटपटी-चटपटी