Naidunia
    Friday, March 24, 2017

    तूतक तूतक तूतिया

    Fri, 07 Oct 2016 02:58 PM (IST)

    फिल्म अतार्किक है। घटनाओं और प्रसंगों में सामंजस्य नहीं है। अच्छी बात है कि यह फूहड़ नहीं है।

    मिर्जिया

    Fri, 07 Oct 2016 08:37 AM (IST)

    गुलजार के शब्दों के चयन और संवादों में हमेशा की तरह लिरिकल खूबसूरती है। उन्हें राकेश ओमप्रकाश मेहरा आकर्षक विजुअल के साथ पेश करते हैं।

    एमएस धोनी: द अनटोल्ड स्टोरी

    Fri, 30 Sep 2016 03:26 PM (IST)

    यह फिल्म उनके व्यक्तित्व के उजले पक्षों से उनके चमकदार व्यक्तित्व को और निखारती है।

    बैंजो

    Fri, 23 Sep 2016 04:14 PM (IST)

    बैंजो’ में मुंबई के उस चालीस प्रतिशत बस्ती की कहानी है, जहां मेनस्ट्रीम हिंदी फिल्मों के कैमरे नहीं जाते हैं।

    वाह ताज

    Fri, 23 Sep 2016 04:17 PM (IST)

    सही मुद्दे पर व्यंग्यात्मक फिल्म बनाने की कोशिश में लेखक-निर्देशक असफल रह जाते हैं।

    पार्च्‍ड

    Thu, 22 Sep 2016 01:34 PM (IST)

    राजस्थान की तीन औरतों की सूखी और झुलसी जिंदगी की यह कहानी उनके आंतरिक भाव के साथ सामाजिक व्यवस्था का भी चित्रण करती है।

    'राज रीबूट'

    Fri, 16 Sep 2016 05:07 PM (IST)

    विक्रम भट्ट की हॉरर फिल्में अब बिल्कुल नहीं डरा रहीं।

    पिंक

    Thu, 15 Sep 2016 02:46 PM (IST)

    फिल्म के अंत में अमिताभ बच्चन की आवाज में प्रस्तुत 'पिंक पोएम' में फिल्म का सार और संवेदना है।

    फ्रीकी अली

    Fri, 09 Sep 2016 05:34 PM (IST)

    यह फिल्म‍ नवाजुद्दीन सिद्दीकी के लिए देखी जा सकती है। लेखक-निर्देशक थोड़ा और यत्न-प्रयत्न करते तो यह नवाज की उल्लेखनीय फिल्म होती।

    बार बार देखो

    Fri, 09 Sep 2016 04:10 PM (IST)

    फिल्म एक स्तर पर स्त्री-पुरुष के नजरियों को टच करती है। नायिका प्रपोज करने की पहल करने के बावजूद सोच के स्तर पर पिछड़ी है।

    अटपटी-चटपटी