Naidunia
    Thursday, September 21, 2017
    01 Jan 2017-31 Dec 2017

    इस वर्ष व्यर्थ के कामों में खर्चे बहुत होंगे। कुंभ राशि पर साढ़े साती और ढैया का प्रभाव नहीं रहेगा। विरोधी आपसे समझौता करने के लिए उत्सुक रहेंगे। आपकी आर्थिक स्थिति सामान्य रहने वाली है। दूसरों की मदद करने से पहले अपनी आर्थिक स्थिति के बारे में विचार कर लें। कुंभ राशि में पैदा होने वाले अक्सर संवेदनशील और बौद्धिक रूप से स्थापित होते हैं।

    वर्ष के दूसरे पक्ष में कहीं भी इन्वेस्ट करने से पहले अच्छे से सोच-विचार लें। जमीन जायदाद से संबंधित कोई कार्य करते हैं तो उसमे सफलता मिल सकती है। अगर व्यवसाय करते हैं तो उसमे भी आपका भाग्य साथ देगा। जीवनसाथी को ज्यादा समय दे पाएंगे। व्यापारियों और बिजनेस से जुड़े लोगों के लिए यह वर्ष उत्तम साबित हो सकता है। नौकरी में तरक्की के योग हैं, इसलिए मेहनत करते रहें और निराश न हों।

    राशिफल और नक्षत्र के अनुसार यह वर्ष कुंभ राशी के जातकों के लिए बिल्कुल अच्छा नही है। विशेष रूप से साल के अंत मे परेशानियां आएंगी। हालांकि, करियर में सफलता की पूरी उम्मीद है। संबंधों में अस्थिरता बनी रहेगी। राशिफल के अनुसार शरद ऋतु स्थिर और शांतिपूर्ण होगी।

    सावधानी: वर्ष 2017 में कुंभ राशि वालों की शख्सियत काफी मजबूत हो जाएगी। स्वास्थ्य को लेकर सावधानी रखें। लगातार तापमान परिवर्तन से आपके शरीर को नुकसान हो सकता है। धन की कमी नहीं रहेंगी। अहंकार के वशीभूत स्वयं को न होने दें। वर्षभर दैनिक जीवन काफी व्यस्त रहेगा।

    उपाय: घर के नजदीक यदि शिवाल हो तो रोज जाएं, शिवलिंग पर जल अर्पित कर। भोलेनाथ की पूजा करें। ऐसा करने से आपकी जिंदगी में आने वाले हर दुख दूर होंगे। शाम के समय तुलसी के पौधे के नजदीक दीपक रखें। ताकि आने वाली विघ्न बाधाएं दूर होंगी।

    आज का दिन

    शरद नवरात्र प्रारंभ। घटस्थापना। महाराज अग्रसेन जयन्ती। दक्षिण दिशा मध्यम। उत्‍तर पूर्व का मध्यभाग शुभ अन्य दिशा यात्रा करना हो तो अपने ईष्टदेव की पूजन कर बेसन निर्मित मिठाई खा कर जायें।

    व्रत-त्योहार

    आखिर सोमवार को ही क्‍यों माना जाता है शिव का दिन

    सोमवार को भगवान शिव की पूजा करने की परंपरा काफी पुराने समय से चली आ रही है। और पढ़ें »

    अंतरयात्रा

    आलोचना से पहले दूसरों को समझें, नहीं होंगे कभी परेशान

    बहुत जल्दी दूसरों की आलोचना या उन पर नाराजी जाहिर करना ठीक नहीं है। और पढ़ें »