Naidunia
    Thursday, July 27, 2017
    01 Jul 2017-31 Jul 2017

    नाम का पहला शब्द यदि- चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ।

    मेष- राशि वालों के लिए इस जुलाई माह के पूर्वार्ध में कुछ मानसिक उलझने हो सकती है | अनावश्यक के व्यय से परेशानी पैदा होगी \ मनोभावों पर नियंत्रण रखना होगा अन्यथा स्वयं के लिए परेशानी उत्पन्न कर सकते हैं | व्यापारिक यात्रा से कोई विशेष लाभ नहीं है अतः कुछ समय के लिए स्थगित रखना उचित होगा | इस माह कारोबार की योजनायें सफल होंगी। धन की आवक अच्छी होगी। शत्रु-पक्ष से सावधान रहें। राजकीय कार्यों में लाभ होगा। स्थान परिवर्तन योग। पारिवारिक विवाद की स्तिथियाँ आयेंगी। विधार्थी वर्ग हेतु माह अनुकूल सिद्ध होगा। माता के स्वास्थ्य के कारण चिन्तित रहेंगे। सफलता आपके कदम चूमेगी। मासांत में विदेश यात्रा का योग भी निर्मित होगा।बेरोजगार लोगों को रोजगार के अवसर मिलेगे। क्रोध व भावुकता मे लिये गए निर्णय कष्टकारी होगा। रूपये-पैसे के लेन देन मे सावधानी रखे।

    मेष राशि वालों के लिए यह माह विद्या व उन्नति देने वाला रहेगा। पत्नी से लाभ मिलेगा। यात्रा सोच समझ कर करें। किसी भी प्रकार की हानि हो सकती है। आर्थिक परेशानी आ सकती है। परिवार का पूर्ण सहयोग प्राप्त होगा। अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें। व्यापार मध्यम रहेगा। जीवन शैली में महत्वपूर्ण बदलाव आयेगा। अत्यंत सावधानी से कार्य को करना होगा। स्वास्थ्य की दृष्टि से पूर्वार्द्ध थोड़ा कष्टप्रद है। रिश्तेदारों के कारण घोर निराशा उत्पन्न होगी। जीवन साथी के स्वास्थ्य के कारण चिन्तित रहेंगे। भार्इ-बहनो से वांछित सहयोग मिलेगा। स्वास्थ्य सामान्यत: ठीक रहेगा। इस वर्ष जुलार्इ माह में 9, 17, 19 एवम 27 तारीखे नेष्ट फलदायक हैं, अत: सावधान रहना चाहिए।

    इस माह का विशेष उपाय:- माता लक्ष्मी के समक्ष शुद्व घी का 5 बत्तियों वाला दीपक प्रज्वलित करे। लाभकारी रहेगा।

    - पंडित "विशाल" दयानन्द शास्त्री

    आज का दिन

     नागपंचमी शास्त्रनुमोदित परविद्धा है। दक्षिण दिशा मध्यम है। उतर पूर्व का मध्य भाग शुभ। अन्य किसी दिशा की यात्रा करना हो तो गुरू व्यक्ति का आशीर्वाद लेकर बेसन मिठाई खाकर जायें।

    व्रत-त्योहार

    आखिर सोमवार को ही क्‍यों माना जाता है शिव का दिन

    सोमवार को भगवान शिव की पूजा करने की परंपरा काफी पुराने समय से चली आ रही है। और पढ़ें »

    अंतरयात्रा

    आलोचना से पहले दूसरों को समझें, नहीं होंगे कभी परेशान

    बहुत जल्दी दूसरों की आलोचना या उन पर नाराजी जाहिर करना ठीक नहीं है। और पढ़ें »