Naidunia
    Thursday, December 8, 2016
    01 Nov 2015-30 Nov 2016

    राशिचक्र की पांचवीं राशि उनकी है, जिनका जन्म 24 जुलाई से 23 अगस्त को होता है। इसका स्वामी सूर्य है, जो अपने स्वाभाविक और प्राकृतिक प्रभाव से इस राशि वालों को अगर प्रताप से अभीभूत कर देता है और उसके स्वाभाव में आक्रामकता को भर देता है।

    वैसे इनमें संतुलन बनाने की क्षमता, कार्यशीलता, मर्यादा, निडरता और स्वाभिमाना कूट-कूटकर भरी होती है। वे न केवल भाग्य के धनी होते हैं, बल्कि औरों का भी साथ बना रहता है। बातचीत में निपुणता के गुण के कारण लोगों को प्रभावित करने में माहिर होते है। बात-व्यवहार में श्रेष्ठता की झलक मिलती है। आनेवाले महीनों में इस राशि के युवाओं का करिअर महत्वपूर्ण रहेगा। खासकर विद्यार्थियों को बृहस्पति का लाभ विद्योपार्जन में मिलेगा और वे उत्साह से भरे रहेंगे। दिसंबर 2015 से अप्रैल 2016 तक उनके लिए अच्छा समय है। नौकरीपेशा या व्यापार करने वालों को परिश्रम के अनुरूप लाभ मिलेगा। अभी से मार्च 2016 तक धनागमन और प्रोपर्टी में इजाफा होने के विशेष योग बने हुए हैं, लेकिन राजनीतिक व सामाजिक प्रतिबद्धता बढ़ेगी।

    आने वाले पांच माह तक सेहत में उतार-चढ़ाव के दौर से गुजरना पड़ सकता है। मानसिक शांति के लिए ज्योतिषीय उपाय जरूरी है। भाग्याशाली दिन रविवार है, तो भाग्य में वृद्धि करने वाला रंग गहरा लाल और सफेद है। चांदी, तांबा या कांसे के धातु से आपको सकारात्मक ऊर्जा मिलेगी और आपकी जागरूकता बढ़ेगी। शनि ग्रह का प्रभाव दांपत्य के मोर्चे पर आपको विचलित कर सकता है।

    आज का दिन

    उतर पूर्व का मध्यभाग मध्यम। उतर दिशा शुभ। अन्य दिषा की यात्रा करना हो तो किसी पूज्य व्यक्ति का आशीर्वाद जा सकते है। हरा पका फल या मुंग निर्मित वस्तु खाकर जायें।
     

    व्रत-त्योहार

    जनकपुरी में नहीं यहां हुआ था श्रीराम-सीता विवाह

    अर्थात बाहर चाहे वर्षा या धूप हो, घर में तो आप सुरक्षित हैं। और पढ़ें »

    अंतरयात्रा

    तथ्य: धर्म बांधता नहीं, बल्कि मुक्त करता है

    भरोसा और धैर्य रखो और तब आपकी जिंदगी में चमत्कार जरूर होगा। और पढ़ें »