Naidunia
    Saturday, April 29, 2017
    29 Apr 2017

    भाई-बंधुओं का सहयोग। सकारात्मक विचारधारा। आमदनी हेतु अच्छे प्रयास। दूसरों को उनके कार्यों में सहयोग से प्रसन्नता। घमण्ड न करें।

    आज का दिन

    चतुर्थी तिथी क्षय। सर्वार्थ सिद्धियोग सूर्योदय से 10। 56 तक। रवियोग 10। 57 एंव अमृत सिद्धियोग। पूर्व दिशा की यात्रा हेतु मध्यम। अन्य दिशा की यात्रा करना हो तो श्री हनुमान की पूजन कर या किसी वृद्धा का आशीर्वाद लेकर चाकलेट रंग की मिष्ठान खाकर जा सकते है। 

     

    व्रत-त्योहार

    गृहस्थ जीवन की शांति के लिए कीजिए अक्षय तृतीया व्रत

    यही वजह है कि ज्यादातर शुभ कार्यों का आरंभ इसी दिन होता है। और पढ़ें »

    अंतरयात्रा

    कर्म बंधन भी है और मुक्ति भी, लेकिन कैसे? यहां जानें

    बंधन का कर्म करने के लिए आपका विवाहित होना जरूरी नहीं है। और पढ़ें »