Naidunia
    Friday, December 15, 2017
    PreviousNext

    स्वरोजगार अपनाकर आरती ने दिया दूसरों को भी रोजगार

    Published: Fri, 08 Dec 2017 03:49 AM (IST) | Updated: Fri, 08 Dec 2017 03:46 PM (IST)
    By: Editorial Team
    agarwatti nirman 2017128 154633 08 12 2017

    सिवनी। जिले की आरती पति शिवनंदन उईके आज अगरबत्ती निर्माण यूनिट की मालिक है। स्वरोजगार से जुड़कर आरती ने ना केवल खुद को काबिल बनाया बल्कि वे जरूरतमंदों को भी रोजगार उपलब्ध करा रही हैं। सरकार की मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना का लाभ लेकर छपारा गांव के लकवाह निवासी आरती ने मुकाम हासिल किया है।

    आर्थिक तंगी से गुजर रहा था जीवन

    आरती उइके ने बताया है कि उनके व उनके पति के शिक्षित बेरोजगार होने के कारण उनका जीवन आर्थिक तंगी से गुजर रहा था। उनके पति अक्सर नौकरी की तलाश में सिवनी जाया करते थे, लेकिन उन्हें नौकरी नहीं मिली। इसी बीच उन्हें मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के बारे में जानकारी लगी। इसके बाद योजना का लाभ लेने के लिए आदिवासी वित्त निगम कार्यालय में सम्पर्क किया।

    निगम से मिली सहायता के बाद बैंक में अगरबत्ती निर्माण इकाई के लिए 1.50 लाख के ऋण का आवेदन प्रेषित किया गया। जिसे बैंक द्वारा आवश्यक औपचारिकताएं पूर्ण कर स्वीकृत कर लिया गया। इसमें शासन द्वारा 45000 रुपए अनुदान राशि योजना अंतर्गत प्रदान की गई। आरती उईके व शिवनंदन ने आवश्यक प्रशिक्षण प्राप्त कर सिवनी में किराए के मकान में पूर्ण लगन व परिश्रम से कारखाने का संचालन प्रारंभ किया।

    अगरबत्ती निर्माण के लिए आवश्यक कधाा माल शहर से ही प्राप्त होने व निर्मित उत्पाद आसानी से शहर में ही विक्रय हो जाने से कारखाने का संचालन सुगमता से इनके द्वारा किया जा रहा है। उन्होंने अपने लगन एवं अथक परिश्रम से मात्र 10 माह के संचालन से प्राप्त लाभ से एक नवीन मशीनरी क्रय की है जिससे पहले से अधिक उत्पादन उनके द्वारा किया जा रहा है। प्रतिदिन व्यवसाय से सभी खर्चों के बाद 500-600 रुपये का लाभ प्राप्त किया जाता है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें