Naidunia
    Thursday, June 29, 2017
    PreviousNext

    एक साथ सौ परिवारों में होगी गायत्री महामंत्र की आहुतियां

    Published: Fri, 21 Apr 2017 08:33 PM (IST) | Updated: Fri, 21 Apr 2017 08:33 PM (IST)
    By: Editorial Team

    एक साथ सौ परिवारों में होगी

    गायत्री महामंत्र की आहुतियां

    -गायत्री शक्तिपीठ के स्थापना दिवस पर 25 को होगा अनुष्ठान

    जोबट। नईदुनिया न्यूज

    गायत्री शक्तिपीठ जोबट का स्थापना दिवस के अवसर पर 25 अप्रेल को जोबट नगर सहित आसपास ग्रामीण क्षेत्र के सौ परिवारों में एक साथ गायत्री महायज्ञ का आयोजन होगा। इस वर्ष भी महायज्ञ, महाआरती व अनेक प्रकार के धार्मिक आयोजन होंगे। महायज्ञ को सम्पन्न कराने के लिए बड़ी संख्या में बाहर से आचार्य आएंगे।

    गायत्री शक्तिपीठ के व्यवस्थापक डॉ.शिवनारायण सक्सेना ने बताया कि जोबट शक्तिपीठ का 25 अप्रेल 1980 में विश्व गायत्री परिवार के संचालक पं.श्रीराम शर्मा आचार्य ने यहां पर तीन दिन रहकर स्वयं के द्वारा प्राण प्रतिष्ठा की थी तथा मंदिर में नौ देवियों का भव्य शक्तिपीठ है। देश के गिनेचुने शक्तिपीठों में नौ शक्तियों की प्रतीक मूर्तियों वाले शक्तिपीठ है, लेकिन इस आदिवासी अंचल को यह अवसर भी मिला। 25 अप्रेल स्थापना दिवस के अवसर पर होने वाले आयोजनों को लेकर गायत्री परिवार के सक्रिय कार्यकर्ता घर-घर जाकर यज्ञ आयोजन के लिए सम्पर्क कर तैयारी प्रारंभ कर दी। नगर के अलावा समीप के ग्राम कंदा, देगांव, कोसदूना ओर रामपुरा के साथ सौ घरों में प्रातः 8 से 10 बजे तक एक साथ गायत्री महायज्ञों का आयोजन होगा। जिसमें लोक मंगल के लिए आचार्य विशेष आहुतियां देगें साथ ही पर्यावरण का संदेश हर परिवार तक पहुंचाने का प्रयास किया जाएगा। इस आयोजन के प्रभारी शिवराम वर्मा, जयप्रकाश शर्मा, सरोज टवली, मधुबाला शर्मा, पुष्पा राठौड़, मंजुबाला श्रीवास्तव, ललिता राठौड़, सरिता वाणी, केशरबाई राठौड़ कार्यवाहक, आशीष सोनी, जयंतीलाल वाणी, अनिल श्रीवास्तव, आम प्रकाश राठौड़ आदि सतत सम्पर्क कर यज्ञ संचालन के लिए आचार्य की व्यवस्था में लगे हुए है। स्थापना दिवस के अवसर पर शक्तिपीठ प्रांगण में ध्वजा रोहण के पश्चात आचार्य यज्ञ कराने रवाना होगें। संध्या को 51 तालियों से महा आरती की जाएगी। जिसकी व्यवस्था संदीप खत्री, रामसिंह चौहान, राम प्रसाद बहेडिया, रमेशचन्द्र राठौड़, संजय राठौड़ कर रहें। एक साथ सौ परिवार में यज्ञ संचालन के लिए रतलाम, धार, दाहोद, पंचमहाल,पेटलावद, रायपुरिया, सारंगी, करवट, थांदला, खवासा, मेघनगर, नौगांव, झाबुआ, सौंडवा, आलीराजपुर, आजाद नगर, कट्ठीवाड़ा, डही, मनावर, कुक्षी, गंधवानी, बाग, सिंघाना, बडवानी, गणपुर, उमरी, अजंदा, अवल्दा, टेमरिया आदि स्थानों से यज्ञ संचालन के लिए आचार्य शामिल होगें।

    और जानें :  # alirajpur news
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी