Naidunia
    Friday, June 23, 2017
    PreviousNext

    बैतूल में टाटा सफारी में मिले 22 हजार रुपये के नकली नोट

    Published: Mon, 19 Jun 2017 06:36 PM (IST) | Updated: Mon, 19 Jun 2017 06:40 PM (IST)
    By: Editorial Team
    fake notes 19 06 2017

    बैतूल।मिलानपुर टोल बेरियर पर पदस्थ एक कर्मचारी की सतर्कता से नकली नोट का एक बड़ा मामला उजागर हुआ है। टोलकर्मी की सूचना पर पुलिस ने नकली नोट थमाने वाले की गाड़ी की तलाशी ली तो उसमें 22250 रुपए के नकली नोट मिले हैं। पकड़े गए आरोपी में से एक खुद को भारतीय भ्रष्टाचार निवारण संस्था का अध्यक्ष बता रहा है। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर वाहन और नोट जब्त कर लिए हैं।


    मिलानपुर टोल बेरियर पर 18 जून की रात्रि में एक टाटा सफारी वाहन क्रमांक एमएच-43/व्ही-1974 पहुंचा। इस वाहन में सवार लोगों में से एक ने टोलकर्मी दीपक परिहार को टोल टैक्स चुकाने के लिए 2000 रुपए का नोट दिया। दीपक ने नोट को गौर से देखा तो वह नकली था। इस पर दीपक ने तत्परता दिखाते हुए तत्काल ही बैतूल बाजार पुलिस को इसकी सूचना दी।

    पुलिस पर बना रहा था दबाव

    आरोपी ने पहले तो पुलिस पर ही दबाव बनाने का भरसक प्रयास किया। वह स्वयं को भारतीय भ्रष्टाचार निवारण संस्था का अध्यक्ष बताता रहा। उसके वाहन पर भी यही लिखा हुआ है। तमाम प्रयासों के बावजूद जब पुलिस कोई दबाव में नहीं आई तब उसने पुलिस को जानकारी देना शुरू किया। यदि टोल बेरियर पर टोलकर्मी सतर्कता नहीं बरतता तो वह आसानी से नोट ले जाने में सफल हो जाता और एक-एक कर आम लोगों के बीच खपाता रहता।


    आखिर कौन है आरोपी का दोस्त

    आरोपी इंदौर के किसी दोस्त द्वारा उसे यह नोट दिए जाने की बात कह रहा है। यह भी साफ है कि उसे किसी न किसी ने तो यह नोट दिए ही हैं। जानकारों के अनुसार संभव है कि यह एक बड़ा गिरोह हो। यदि इसकी जड़े इंदौर में है तो प्रदेश में पहले ही बड़े पैमाने पर नकली नोट फैलाए जा चुके हैं। विशेषज्ञों के अनुसार ऐसे में पुलिस को महज दो आरोपियों को ही गिरफ्तार कर बड़ी सफलता मानकर बैठ जाने की बजाय मामले की तह तक पहुंचना होगा।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी