Naidunia
    Thursday, April 27, 2017
    PreviousNext

    ढाई हजार से अधिक मरीजों का हुआ स्वास्थ्य परीक्षण

    Published: Tue, 21 Mar 2017 08:15 AM (IST) | Updated: Tue, 21 Mar 2017 08:15 AM (IST)
    By: Editorial Team

    ढाई हजार से अधिक मरीजों का हुआ स्वास्थ्य परीक्षण

    नागपुर भोपाल के 14 अस्पतालों से पहुंची टीम ने की जांच

    फोटो-----20 बीटीएल 13

    बैतूल। जिला अस्पताल में लगाए स्वास्थ्य शिविर में पंजीयन के लिए उमड़ी भीड़।

    फोटो-----20 बीटीएल 26

    बैतूल। शिविर में मरीजों का परीक्षण करते चिकित्सक।

    बैतूल। नवदुनिया प्रतिनिधि

    जिले में गंभीर बीमारियों से पीड़ित लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण कर चिन्हित अस्पतालों में उपचार कराने के लिए सोमवार को लगाए गए स्वास्थ्य शिविर में ढाई हजार से अधिक मरीजों का परीक्षण किया गया। जिला प्रशासन के मार्गदर्शन में लगाए गए इस शिविर में भारी संख्या में मरीजों के पहुंचने से स्वास्थ्य विभाग के अमले को व्यवस्थाएं बनाने में पसीना छूट गया। देर शाम तक पंजीकृत मरीजों के परीक्षण का काम चलता रहा और उनके प्रकरण बनाए गए हैं।

    मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रदीप मोजेस ने बताया कि समस्त विकासखण्डों से साधिकार एवं नगर उदय अभियान में चयनित हुए 2572 मरीजों का सोमवार को ट्रामा सेंटर में लगाए गए मुख्यमंत्री स्वास्थ्य शिविर में पंजीयन किया गया।शिविर में राज्य बीमारी सहायता अंतर्गत चिन्हित बीमारियों के बीपीएल पात्र मरीज तथा राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत मुख्यमंत्री बाल उपचार योजना, बाल श्रवण उपचार योजना के तहत 0 से 18 वर्ष तक के बच्चों की निःशुल्क जांच की गई। मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सेवा शिविर के अंतर्गत विभिन्न बीमारियों के लिए विभिन्न चिकित्सा संस्थाओツ से आए चिकित्सकों ने चिन्हित मरीजों का परीक्षण कर उपचार हेतु प्रक्रिया अनुसार प्रकरण तैयार किए जा रहे हैं। श्री मोजेस ने बताया कि सभी मरीजों को सर्जरी हेतु निर्धारित संस्थाओं में भेजा जाएगा। शिविर में कोलंबिया अस्पताल नागपुर, पाढर अस्पताल, दिव्य ईएंडटी भोपाल, हजैला अस्पताल भोपाल, सेंट्रल इंडिया इंस्टीटयूट हीमोटोनोलॉजी नागपुर, इन्फर्टिलिटी सेंटर भोपाल, केयर अस्पताल नागपुर, नवोदय अस्पताल, अर्नेजा अस्पताल नागपुर, एलबीएस अस्पताल भोपाल, एलएन मेडिकल कॉलेज एण्ड जेके अस्पताल भोपाल, नर्मदा अस्पताल होशंगाबाद, बंसल अस्पताल भोपाल की टीमें पहुंची थी। कलेक्टर शशांक मिश्र शिविर का जायजा लेकर विभिन्न चिकित्सालयों से आए चिकित्सा दल सदस्यों से उपचार की उपलब्धता एवं प्रक्रिया के संबंध में चर्चा की। उन्होंने बताया कि शिविर में चिन्हित समस्त मरीजों का आगामी 15 दिवस के भीतर उपचार सुनिश्चित कराया जाएगा। 5 अप्रैल को बच्चेदानी के आपरेशन एवं 15 अप्रैल को हार्निया के आपरेशन के निःशुल्क शिविर जिला चिकित्सालय में आयोजित किए जाएंगे।

    और जानें :  # betul news
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी