Naidunia
    Saturday, September 23, 2017
    PreviousNext

    कोचिंग में 20 फीसदी छात्र बैग में कट्टा रखते हैं, अपराध में भी शामिल

    Published: Mon, 17 Jul 2017 03:49 AM (IST) | Updated: Tue, 18 Jul 2017 03:24 PM (IST)
    By: Editorial Team
    gun school bag 2017717 221039 17 07 2017

    भिंड। शहर में कोचिंग जाने वाले 20 फीसदी छात्र बैग में कट्टा रखते हैं। भिंड में ज्यादातर अपराध में 16 से 18 साल उम्र के बच्चे शामिल रहते हैं या फिर अपराध शराब पीने वाले करते हैं। यह बात शहर कोतवाली टीआई शैलेंद्र सिंह कुशवाह ने राज्य बाल संरक्षण आयोग के अध्यक्ष राघवेंद्र शर्मा से कही।

    बाल आयोग अध्यक्ष रविवार शाम 4ः50 बजे सायरन बजाती हुई गाड़ी से कोतवाली पहुंचे थे। अध्यक्ष ने कोतवाली टीआई से 16 मिनट सवाल-जवाब किए। कोतवाली में जेजे एक्ट (जस्टिस जुबेनाइल एक्ट 2015) नहीं था इस पर अध्यक्ष ने कहा कोतवाली में यह हाल है तो छोटे थानों में क्या हालात होंगे। उन्होंने टीआई से जेजे एक्ट मंगवाने के लिए कहा।

    हाथ में एक्ट लेकर किए सवाल-जवाब

    बाल संरक्षण आयोग अध्यक्ष राघवेंद्र शर्मा ने शहर कोतवाली पहुंचते ही पीए सौरभ गुप्ता से पॉस्को एक्ट और जेजे एक्ट मंगवाया। अध्यक्ष कोतवाली आए तब टीआई मौजूद नहीं थे। एसआई राकेश प्रसाद, एचसीएम कमलेश कटारे ने उन्हें टीआई के चेंबर में बैठाया। अध्यक्ष ने दोनों एक्ट का अध्ययन किया और एचसीएम से कहा पॉस्को एक्ट की एफआईआर आप दिखाएंगे या टीआई दिखाएंगे। एचसीएम एफआईआर लेकर आए।

    अध्यक्ष ने एफआईआर पढ़ी फिर पीए सौरभ गुप्ता के हाथों में एक्ट देते हुए बोले- पॉस्को में यह 5-जी (धारा) में क्या होता है बताओ। इस दौरान टीआई आ गए तो अध्यक्ष ने उनसे सवाल-जवाब शुरू किए। बाल संरक्षण आयोग अध्यक्ष के साथ जिला पंचायत सदस्य आशु भदौरिया, बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष डॉ. रवीन्द्र शर्मा मौजूद रहे।

    24 घंटे में बाल कल्याण समिति को सूचना भेजें

    बाल आयोग अध्यक्ष श्री शर्मा ने टीआई से कहा बाल कल्याण समिति के पास एफआईआर होने के 24 घंटे में सूचना पहुंचाएं। छोटे अपराधों में एफआईआर की जगह एसआईआर रिपोर्ट बनेगी। अध्यक्ष ने बाल कल्याण समिति को सूचना देर से देने की बात पर कटाक्ष करते हुए टीआई से कहा, सुनिए छत पर 1 शर्ट सूखे या 5 शर्ट सूखें, फर्क नहीं पड़ता है। सूर्य की रोशनी तो बराबर ही आएगी। इसी तरह सूचना तत्काल भिजवाएं। अध्यक्ष ने कहा एसपी को पत्र लिखकर एक्ट में हुए नए संसोधनों पर पुलिस अफसरों के लिए कार्यशाला करने के लिए कहूंगा। टीआई ने कहा, यह ठीक रहेगा।

    बच्चे के हाथ बहन की मौत हुई, केस होगाः

    टीआई ने बाल आयोग अध्यक्ष को बताया 26 जून को धर्मपुरी में 9 साल के बच्चे से पिस्टल चलने से उसकी 14 वर्षीय बहन की मौत हो गई थी। हमने कोई केस नहीं किया। अध्यक्ष ने कहा अब संसोधन हुए हैं। 7 साल से ऊपर के बच्चे पर केस तो बनेगा, लेकिन इसकी काउंसलिंग कराई जाएगी।

    मीडियाकर्मियों ने सवाल किया कि इस केस में तो पुलिस ने कोई रिपोर्ट दर्ज नहीं की है तो अध्यक्ष गोलमोल जवाब देते हुए बोले- एक्ट में देखना पड़ेगा कि क्या कार्रवाई होगी।

    मैं चाइल्ड कमिशन का चेयरमैन हूं

    टीआईः (शाम 4ः58 बजे बाल संरक्षण आयोग अध्यक्ष से) जी, बताएं सर।

    अध्यक्षः मैं चाइल्ड कमिशन का चेयरमैन हूं। पॉस्को एक्ट की एफआईआर दिखाओ। यहां बाल यूनिट का प्रभारी क्यों नहीं है।

    टीआईः सर है, लेकिन अभी बाहर गए हैं। एफआईआर दिखवाता हूं।

    अध्यक्षः बाल यूनिट के लिए अलग से काउंटर बनवाएं। अधिकारी की सीट के पीछे मोगली या बच्चों के संबंध में पेंटिंग बनवाएं।

    टीआईः जी सर, बनवा देंगे।

    अध्यक्षः बाल कल्याण समिति को बाल अपराधों में एफआईआर की जानकारी कैसे देते हैं?

    टीआईः देते हैं सर, फोन से बता देते हैं।

    अध्यक्षः जानकारी किस फार्मेट में देते हैं बताइए। हम अभी देखना चाहेंगे।

    टीआईः फार्मेट तो नहीं बना है सर।

    अध्यक्षः अच्छा बताइए आपके पास (पॉस्को और जेजे एक्ट) दोनों एक्ट हैं।

    टीआईः जेजे एक्ट नहीं है।

    अध्यक्षः जेजे एक्ट नहीं है तो बच्चों से न्याय कैसे कर पाएंगे। बाजार से मंगवाओ।

    टीआईः (एचसीएम से) पुस्तक बाजार से अभी जेजे एक्ट मंगवाओ।

    अध्यक्षः आपके पास आरटीई एक्ट है। बच्चों को स्कूल में एडमिशन नहीं होने की शिकायत आती हैं।

    टीआईः आरटीई एक्ट? सर, पुलिस पर पहले से ही काम बहुत ज्यादा हैं।

    अध्यक्षः मंगवा लो। कई बार पुलिसकर्मियों को बच्चों के एडमिशन की जरूरत होती है।

    टीआईः पुलिसकर्मी तो सब करा लेते हैं एडमिशन।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें