Naidunia
    Tuesday, November 21, 2017
    PreviousNext

    निर्माण कार्य की शिकायत की, सरपंच ने झूठा एससी-एसटी का केस लगवा दिया

    Published: Tue, 20 Jun 2017 09:08 PM (IST) | Updated: Tue, 20 Jun 2017 09:08 PM (IST)
    By: Editorial Team

    भिंड। नईदुनिया प्रतिनिधि

    साहब, मैंने 6 जून 2017 को रतवा सरपंच कैलादेवी द्वारा किए जा रहे भ्रष्टाचार और पंचायत भवन व खेल मैदान स्कूल के पास नहीं बनवाने की शिकायत एसडीएम गोहद से की। अगले दिन ने सरपंच व उनके पति हाकिमसिंह पवैया ने मेरे और परिजनों के खिलाफ एससी-एसटी का मामला दर्ज करा दिया। मामले की निष्पक्ष जांच कराई जाए। यह बात मंगलवार को रतवा के उप सरपंच रामराजसिंह यादव ने एसपी अनिल सिंह कुशवाह को आवेदन देते हुए कही।

    श्री यादव ने बताया कि 7 जून को मिडिल स्कूल पर ग्राम सभा की बैठक चल रही थी। पंच केशरबाई के बेटे के साथ सचिव द्वारा गाली-गलौज की। पंच पवन यादव ने डायल 100 को फोन किया। डायल 100 में तैनात आरक्षक गुप्ता व ड्राइवर और रतवा चौकी पर पदस्थ सैनिक भूपसिंह मौके पर पहुंचे और उन्होंने विवाद के बारे में भी पूछा। उस दिन कोई भी विवाद नहीं हुाआ, लेकिन सरपंच ने कैलादेवी ने मौ थाने में आवेदन दिया। टीआई ने जांच के बाद आवेदन खारिज कर दिया। इसके बाद सरपंच पति हाकिमसिंह ने भिंड हरिजन थाने में आवेदन देकर भाई अशोकसिंह यादव को लिखवाया। लेकिन वह 6 व 7 को सिरसागंज में गए थे और वहां होटल गुंजन में रुके हुए थे। इसी तरह बदनसिंह व मोनू यादव सरपंच पति द्वारा पंचाचत चुनाव में मतपेटी लूट मामले में गवाह हैं इसलिए झूठा उनका भी नाम लिखवाया है। उपसरपंच ने एसपी को बताया कि सरपंच पति के अलावा हाकिमसिंह, कैलाश, बृजमोहन,दीनदयाल ने पंचों को धमकी दी है कि उनके कहे अनुसार करें नहीं तो वह झूठे केस में फंसवा देंगे।

    और जानें :  # bhind news
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें